संयुक्त राष्ट्र: भारत ने संयुक्त राष्ट्र में कहा है कि पाकिस्तान चाहे कितनी भी खोखली दलीलें दे लेकिन यह सच्चाई बदल नहीं सकती कि जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है. भारत ने यह बयान पाकिस्तानी राजदूत द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा की चर्चा में कश्मीर का हवाला दिए जाने के बाद दिया है. Also Read - जम्मू में पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला का मकान अतिक्रमण वाली जमीन पर बना है: J&K प्रशासन

संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की राजदूत मलीहा लोदी ने सोमवार को कहा था कि ‘जनसंहार, युद्ध अपराध, जातीय संहार और मानवता के खिलाफ अपराध को रोकने और उससे संरक्षण की जिम्मेदारी’ विषय पर हो रही चर्चा के दौरान कहा था कि कश्मीर हत्या और नर-संहार जैसे गंभीर अपराधों से पीड़ित जगहों में शामिल है.

उत्तर देने के अधिकार के तहत भारत ने संयुक्त राष्ट्र की 193 देशों की संस्था में पाकिस्तान द्वारा कश्मीर का इस तरह हवाला दिए जाने पर कड़ा विरोध दर्ज कराया. भारत के उत्तर देने के अधिकार के तहत, संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई मिशन में प्रथम सचिव संदीप कुमार बाय्यपू ने कहा, ‘‘ ऐसे वक्त में जब सभी के लिए महत्व रखने वाले मुद्दे पर पिछले एक दशक में पहली बार गंभीर चर्चा हो रही है, ऐसे में हमने देखा कि एक प्रतिनिधि ने फिर से भारतीय राज्य जम्मू-कश्मीर का गलत हवाला देने के लिए इस मंच का दुरूपयोग किया है.’’

संदीप ने कहा कि अतीत में भी संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर मुद्दा उठाने के पाकिस्तान के कुटिल प्रयास विफल रहे हैं और उसे कोई समर्थन नहीं मिला है. उन्होंने कहा, ‘‘मैं इस बात को रेकॉर्ड में शामिल कराना चाहूंगा कि जम्मू-कश्मीर राज्य भारत का अभिन्न और अखंड अंग है. पाकिस्तान की कोई खोखली दलील इस सच्चाई को बदल नहीं सकती है.’’

(इनपुट: एजेंसी)