नई दिल्ली: पाकिस्तान ने शनिवार को जम्मू एवं कश्मीर में दो बार संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए छोटे हथियारों का इस्तेमाल किया, गोलीबारी की और मोर्टार दागे. सेना ने एक बयान में कहा कि मेंढर सेक्टर में संघर्ष विराम उल्लंघन दोपहर 12.30 बजे से दोपहर 1.15 बजे तक हुआ. भारतीय पक्ष ने इसका करारा जवाब दिया. इसके बाद पाकिस्तानी सैनिकों ने राजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पार फिर से गोलीबारी शुरू कर दी.

 

सेना ने कहा कि सीमा पर से हुई गोलीबारी का भारतीय बलों ने भी करारा जवाब दिया. रक्षा मंत्रालय के सूत्रों ने कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर पाकिस्तान द्वारा संघर्ष विराम उल्लंघन की घटनाएं पिछले साल की तुलना में दोगुना अधिक हो गई हैं. वर्ष 2018 में जहां इनकी संख्या 1,629 थी, वहीं इस साल यह बढ़कर 3,200 हो गई हैं. सूत्रों ने कहा कि पाकिस्तानी सेना केरन घाटी, पुंछ, उरी, कृष्णाघाटी और अखनूर सेक्टरों में लगातार गोलीबारी कर रही है.

अनुच्छेद 370 रद्द होने के बाद से लगातार सीमा पर से गोलीबारी कर रहा पाक
वर्ष 2019 के दिसंबर माह में इस प्रकार की 340 घटनाएं सामने आई थीं, वहीं इसके पहले साल इसी समय में यह आंकड़ा 175 था. सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि हालांकि, सर्दियों में संघर्ष विराम तोड़े जाने की घटनाओं में कमी आती है, लेकिन इस बार यह काफी ज्यादा अधिक रही. अनुच्छेद 370 को रद्द करने और जम्मू एवं कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लिए जाने के बाद से ही पाकिस्तान लगातार सीमा पर से गोलीबारी कर संघर्ष विराम तोड़ रहा है.