जम्मू: जम्मू में आतंकवादियों समेत राष्ट्र विरोधी तत्वों की घुसपैठ रोकने और क्षेत्र को सुरक्षित बनाए रखने के लिए पुलिस प्रशासन ने एक नया कदम उठाया है. अब यहां अस्‍थाई रूप से रहने वालों का रिकॉर्ड रखा जाएगा. जम्मू-कश्मीर पुलिस ने मंगलवार को अपने अधिकारियों को एक सुरक्षा उपाय के तहत अपने अधिकार क्षेत्र में अस्थायी रूप से रहने वाले लोगों का आंकड़ा आधारित रिकॉर्ड बनाने का निर्देश दिया. ये कदम जम्मू में आतंकवादियों समेत राष्ट्र विरोधी तत्वों की घुसपैठ पर नजर रखने के उठाये जा रहे हैं.

जम्मू क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक मुकेश सिंह ने जम्मू जिले के अधिकारियों की एक बैठक की अध्यक्षता करते सभी एसएचओ को अपने क्षेत्र में अस्थायी रूप से रहने वाले लोगों का आंकड़ा आधारित रिकॉर्ड बनाए रखने के निर्देश दिए. ये कदम जम्मू में आतंकवादियों समेत राष्ट्र विरोधी तत्वों की घुसपैठ पर नजर रखने के उठाये जा रहे है.

कश्मीर संभाग के प्रत्येक जिले में 50 पीसीओ खोले जाएंगे
जम्मू-कश्मीर प्रशासन जल्द ही कश्मीर संभाग के प्रत्येक जिले में 50 पीसीओ खोलेगा, जहां से लोग मुफ्त में फोन कॉल कर सकेंगे. एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी. कश्मीर संभाग के आयुक्त बसीर अहमद खान ने बताया कि पीसीओ लगाने के लिए स्थानों की पहचान तथा अन्य जरूरतों को पहले ही पूरा किया जा चुका है और जल्द ही इस पर काम शुरू हो जाएगा. आयुक्त ने बताया, “सूची और अन्य विवरण भारत संचार निगम लिमिटेड को मुहैया कराए जा चुके हैं और इस पर काम जल्द ही शुरू होगा.” आम जनता इन पीसीओ के जरिए मुफ्त फोन कॉल कर सकेगी. सरकार के इस कदम से आने वाले दिनों में घाटी में संचार की सुविधा बढ़ेगी.