श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर पुलिस ने ये अंदेशा जताया है कि दक्षिण कश्मीर के शोपियां में शनिवार को लापता हुआ सेना का एक जवान अन्य दो व्यक्तियों के साथ हिज्बुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया है. सिपाही मीर इदरेश सुल्तान बिहार के कटिहार में सेना की जम्मू कश्मीर लाइट इन्फेंट्री इकाई में तैनात था और उसे झारखंड भेजा जाना था. वह शोपियां जिले के एक गांव का निवासी है.Also Read - गृह मंत्री अमित शाह जम्मू में बॉर्डर की अग्रिम पोस्‍ट पर पहुंचे, BSF जवानों का बढ़ाया उत्‍साह

पुलिस अधिकारियों के अनुसार वह 12 अप्रैल को अपने गांव पहुंचा था और शनिवार को वह लापता हो गया. उसके पिता मोहम्मद सुल्तान मीर ने सोमवार सुबह थाने में संपर्क किया और पुलिस से कहा कि उनका बेटा लापता है. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि उन्हें शक है कि लापता सैनिक अन्य दो स्थानीय युवकों के साथ हिजबुल मुजाहिदन से जुड़ गया है. Also Read - Jammu and Kashmir: आतंकवाद रोधी अभियान में गिरफ्तार पाकिस्तानी आतंकवादी की मौत, तीन सुरक्षाकर्मी घायल

वैसे आधिकारिक रुप से इसकी पुष्टि नहीं हुई है और पुलिस ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज की है. उसने इसकी सूचना सेना के अधिकारियों को दे दी है. अधिकारियों के अनुसार पुलिस यह पता लगाने के लिए उसके कॉल रिकार्ड एवं अन्य गतिविधियों को खंगाल रही है कि कहीं वह राष्ट्रविरोधी तत्वों के संपर्क में तो नहीं था. सेना का कहना है कि वह लापता है और किसी आतंकवादी संगठन में उसके शामिल होने की कोई पुष्टि नहीं हुई है. Also Read - Indian Army Recruitment 2021: भारतीय सेना में बिना परीक्षा बन सकते हैं अधिकारी, बस होनी चाहिए ये योग्यता, 2 लाख मिलेगी सैलरी

(इनपुट: एजेंसी)