नई दिल्ली: जम्मू एवं कश्मीर के त्राल कस्बे में मंगलवार को सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच हुई मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए. आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया जानकारी मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने सोमवार शाम मीर मोहल्ला में तलाशी अभियान चलाया था. पुलिस ने कहा, अभियान मंगलवार सुबह तक जारी रहा. आतंकवादियों द्वारा सुरक्षा बलों पर गोली चलाने के बाद मुठभेड़ शुरू हुई थी. प्रशासन ने कस्बे में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दी है.

बता दें कि इससे पहले जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में 56 घंटे तक चली मुठभेड़ के बाद दो आतंकवादी मारे गए थे. वहीं सीआरपीएफ के एक अधिकारी समेत पांच सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए थे. मुठभेड़ के दौरान एक नागरिक की भी जान चली गई थी. पुलिस के एक प्रवक्ता ने रविवार को बताया कि कुपवाड़ा के बडगाम इलाके में भौगोलिक स्थिति के कारण सुरक्षा बलों को अभियान के दौरान परेशानियों का सामना करना पड़ा. प्रवक्ता ने बताया कि शुक्रवार सुबह शुरू हुई मुठभेड़ में दो आतंकवादी ढेर हो गए.

उन्होंने बताया कि मुठभेड़ स्थल से दोनों आतंकवादियों के शव बरामद कर लिए गए हैं. वे लश्कर ए तैयबा से जुड़े थे. प्रवक्ता के अनुसार एक आतंकवादी की पहचान पाकिस्तानी आतंकवादी के रूप में हुई है जबकि दूसरे की शिनाख्त की जा रही है. प्रवक्ता ने बताया कि शुक्रवार को मुठभेड़ में घायल हो गये सीआरपीएफ के जवान श्याम नारायण यादव की रविवार को मृत्यु हो गयी. इसके साथ ही मुठभेड़ में शहीद हुए जवानों की संख्या पांच हो गई. उन्होंने बताया कि दो सीआरपीएफ कर्मी, निरीक्षक पिंटू और कांस्टेबल विनोद और दो पुलिस कर्मी, सिलेक्शन ग्रेड कॉन्स्टेबल नसीर अहमद और गुलाम मुस्तफा बराह शुक्रवार को ही मुठभेड़ के दौरान शहीद हो गये थे.