Jammu and Kashmir: जम्मू-कश्मीर में नागरिकों को निशाना बनाये जाने की घटनाओं के बीच उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने रविवार को संकल्प लिया कि निर्दोष नागरिकों के एक-एक कतरा खून का बदला आतंकवादियों और उनके हमदर्दों से लिया जाएगा. सिन्हा ने कहा कि राज्य में शांति और सामाजिक-आर्थिक प्रगति तथा लोगों के व्यक्तिगत विकास को बाधित करने के प्रयास किए जा रहे हैं. उन्होंने केंद्र शासित प्रदेश के तेजी से विकास के प्रति अपनी वचनबद्धता दोहराई.Also Read - जम्मू कश्मीर पर टिप्पणियों के लिए भारत ने ‘OHCHR’ पर साधा निशाना, कहा- सीमा पार आतंकवाद के कारण...

सिन्हा ने अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘आवाम की आवाज’ में कहा, ‘‘मैं शहीद नागरिकों को अपनी हार्दिक श्रद्धांजलि देता हूं और शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं. हम आतंकवादियों, उनके हमदर्दों को निशाना बनाएंगे और निर्दोष नागरिकों के खून की हर बूंद का बदला लेंगे.’’ Also Read - कब बहाल होगा जम्मू कश्मीर का राज्य का दर्जा? भाजपा बोली- पहले चुन कर की जा रही हत्याएं बंद हों

उपराज्यपाल कश्मीर घाटी में पिछले 10 दिनों में आतंकवादियों द्वारा अल्पसंख्यकों और प्रवासी कामगारों सहित विभिन्न नागरिकों की हत्या की घटनाओं का जिक्र कर रहे थे. उन्होंने कहा, ‘‘हम तीव्र विकास के लिए प्रतिबद्ध हैं और जम्मू-कश्मीर को समृद्ध और शांतिपूर्ण केंद्र शासित प्रदेश बनाने का प्रयास करेंगे.’’ Also Read - Jharkhand: कश्मीरी युवकों पर हमला, धार्मिक नारे दोहराने का दबाव बनाया, कई हिरासत में

सिंह ने लोगों से उन सुरक्षाकर्मियों को याद करने का आग्रह किया, जिन्होंने कर्तव्य की राह में अपने प्राण न्यौछावर कर दिए. उन्होंने कहा, ‘‘अगले महीने जब हम दीपावली के दीप जलाएं, तो सुरक्षा बलों के उन शहीदों की याद में एक दीपक जरूर जलाएं, जिन्हें समय से पहले मानवता के दुश्मनों ने हमसे छीन लिया था.’’ पुंछ जिले में हाल ही में सबसे घातक आतंकवाद विरोधी अभियानों में से एक में सेना के नौ जवानों की जान चली गई है.

(इनपुट भाषा)