श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के बांदीपुरा में सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में सेना का 1 जवान शहीद हो गया है वहीं दो आतंकी भी मारे गए हैं. ऑपरेशन शनिवार शाम को उस समय शुरू हुआ था जब आतंकियों ने घात लगाकर सेना पर हमला किया था. सेना का ये ऑपरेशन बांदीपुरा इलाके में पनार के जंगलों में चल रहा है और इसमें आज सुबह सेना ने दो आतंकियों को मार गिराया है.

जब ऑपरेशन शुरू हुआ था उस समय 10 से 15 आतंकी थे लेकिन कुछ आतंकी भागने में सफल हो गए. अभी भी कुछ आतंकियों के छिपे होने की आशंका है. पिछले दो दिनों में 5 जवान शहीद हो चुके हैं. परसों अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तान द्वारा किए गए सीजफायर उल्लंघन में बीएसएफ के असिस्टेंट कमांडेंट सहित 4 जवान शहीद हुए थे. शहीद हुए जवानों में असिस्टेंट कमांडेंट जतिंदर सिंह, सब इंस्पेक्टर रजनीश कुमार, असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर राम निवास और कॉन्सटेबल हंसराज थे. इसके अलावा बीएसएफ के 5 जवान घायल हो गए थे. इस साल अबतक सीमा पर 1088 बार सीजफायर उल्लंघन हो चुका है.

इससे पहले 3 जून को भी जम्मू कश्मीर के अखनूर सेक्टर में पाकिस्तानी सेना ने सीजफायर का उल्लंघन किया था जिसमें बीएसएफ के 2 जवान शहीद हो गए थे. जम्मू-कश्मीर में सीजफायर संधि 2003 को पूरे तरीके से लागू करने के लिए 29 मई को भारत और पाकिस्तान के डीजीएमओ ने आपस में बात की थी और सीजफायर को पूरी तरह से लागू करने का फैसला किया था लेकिन इसके बावजूद भी पाकिस्तान की तरफ से लगातार सीजफायर का उल्लंघन किया जा रहा है. इस बातचीत के लिए पाकिस्तान के डीजीएमओ ने भारत के डीजीएमओ को फोन किया था और दोनों ने जम्मू कश्मीर में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर जारी मौजूदा स्थिति पर चर्चा की थी.

भारत के डीजीएमओ लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान और पाकिस्तान के डीजीएमओ मेजर जनरल साहिर श्मशाद मिर्जा के बीच हुई बातचीत में तय किया गया था कि दोनों देश 15 साल पुराने सीजफायर संधि को पूर्ण रूप से लागू करेंगे. जम्मू-कश्मीर में इस साल पाकिस्तान की तरफ से किए गए हमलों में तेजी देखने को मिली है, अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर पर इस साल पाकिस्तान द्वारा 700 से ज्यादा बार सीजफायर का उल्लंघन किया गया है जिसमें 18 जवानों सहित 38 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं.