नई दिल्ली : त्राल में अलकायदा की कश्मीर इकाई अंसार गज़वत उल हिन्द के तथाकथित प्रमुख जाकिर मूसा के मुठभेड़ में मारे जाने की खबरों के मद्देनजर कश्मीर के कुछ हिस्सों में शुक्रवार को कर्फ्यू लगा दिया गया. अधिकारियों ने बताया कि बृहस्पतिवार को मुठभेड़ के बाद कश्मीर के कुछ हिस्सों में एहतियातन कर्फ्यू लगा दिया गया है और शैक्षणिक संस्थान बंद कर दिए गए हैं. उन्होंने बताया कि इंटरनेट सेवाएं भी बंद कर दी गई हैं. Also Read - Jammu Kashmir: कठुआ जिले की कूलर और LED बनाने वाली फैक्ट्री में लगी भयंकर आग, लाखों की संपत्ति जल कर राख

Also Read - Punjab में COVID19 की नई गाइडलाइंस, निगेटिव रिपोर्ट या वैक्‍सीनेशन सर्टिफिकेशन के बिना एयर, रेल और रोड से एंट्री नहीं

ऐसा माना जा रहा है कि मूसा सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया है. दक्षिण कश्मीर में त्राल के एक गांव में दो आतंकवादी मुठभेड़ में मारे गए लेकिन उनकी पहचान की पुष्टि अभी नहीं की गई है. मूसा के परिवार ने पुष्टि की है कि वह मुठभेड़ स्थल पर मौजूद था. मूसा की मौत की खबर के बाद शोपियां, पुलवामा, अवंतिपोरा और श्रीनगर में मूसा के समर्थन में प्रदर्शन हुए थे और लोगों ने मूसा के समर्थन में नारेबाजी की थी. Also Read - Train Service Will Stop Again in Lockdown or Curfew? क्या ट्रेनें फिर होंगी बंद? रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष ने कही ये बात

वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने बताया था कि सुरक्षा बलों ने विशेष खुफिया सूचना मिलने के बाद ददसारा में सुरक्षाबलों ने घेराबंदी की थी और जब आतंकवादियों ने बच कर भागने की कोशिश की तो मुठभेड़ शुरू हो गई.

BJP ने पश्चिम बंगाल के उपचुनाव में किया शानदार प्रदर्शन, तृणमूल से छीनी भाटपारा सीट

अधिकारियों ने बताया था कि घटनास्थल से कोई फरार होकर न पाए इसलिए अतिरिक्त सुरक्षाबल मुठभेड़ स्थल पर भेज दिए गए हैं.जम्मू कश्मीर पुलिस ने बृहस्पतिवार को पुलवामा, अवंतिपोरा, श्रीनगर, अनंतनाग और बडगाम के कुछ इलाकों में प्रतिबंधों की एहतियातन घोषणा की थी. अधिकारियों ने बताया कि जुमे की नमाज में लोगों के एकत्र होने के मद्देनजर यह निर्णय लिया गया.