जम्मू: पाकिस्तानी सैनिकों ने बृहस्पतिवार को जम्मू कश्मीर के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास मोर्टार दागे और गोलीबारी की, जिसका भारतीय सेना ने भी मुंहतोड़ जवाब दिया. बता दें कि 15 अप्रैल के बाद से एलओसी के पास शांति थी. 15 अप्रैल को पाकिस्तानी सैनिकों ने राजौरी के नौशेरा सेक्टर में फिर से गोलीबारी की थी.

 

रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि गुरुवार सुबह करीब साढ़े नौ बजे पाकिस्तानी सेना ने पुंछ जिले के शाहपुर और किरनी सेक्टरों में एलओसी के पास बिना किसी उकसावे के संघर्षविराम का उल्लंघन किया और छोटे हथियारों से गोलियां दागनी शुरू कीं. इसके बाद उन्होंने मोर्टार से गोले दागे. उन्होंने कहा कि भारतीय सेना ने इसका मुंहतोड़ जवाब दिया. 15 अप्रैल के बाद से एलओसी के पास शांति थी. 15 अप्रैल को पाकिस्तानी सैनिकों ने राजौरी के नौशेरा सेक्टर में फिर से गोलीबारी की थी.

मोदी सरकार की बड़ी जीत, चीन ने हटाया अड़ंगा, मसूद अजहर ग्लोबल टेररिस्ट घोषित

पाकिस्तान की ओर से संघर्षविराम उल्लंघन की 513 घटनाएं
पुलवामा आतंकवादी हमले के जवाब में 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट स्थित जेईएम आतंकवादी ठिकाने पर भारत के हवाई हमले के बाद से पाकिस्तानी गोलीबारी में चार सैनिक शहीद हुए हैं और छह लोगों की मौत हुई है. पुलवामा हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गये थे. वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पिछले डेढ़ महीने में जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा के पास पाकिस्तान की ओर से संघर्षविराम उल्लंघन की 513 घटनाएं हुई हैं और भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई में यहां की तुलना में पाकिस्तान की ओर पांच से छह गुना अधिक लोग हताहत हुए हैं. (इनपुट एजेंसी)