जम्मू: जम्मू-कश्मीर दौरे पर पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी अलग-अलग अंदाज में नजर आए. पीएम मोदी ने रविवार को जम्मू में एक अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) और एक भारतीय जनसंचार संस्थान (आईआईएमसी) समेत विभिन्न विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखी. प्रस्तावित एम्स 700 बिस्तरों का होगा. आईआईएमसी देश के प्रमुख मीडिया संस्थान में से है, जहां पत्रकारिता की पढ़ाई होती है. मोदी ने कहा कि नये एम्स की स्थापना से क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधाओं में बदलाव आएगा और युवाओं को नये अवसर भी मिलेंगे. उन्होंने यहां एक जनसभा को संबोधित कर अपने दौरे की शुरुआत की. दौरे के दौरान उन्होंने लेह में भी जनसभा की. यहां उन्होंने कहा कि जनसभा में भीड़ देख उनकी ठंड दूर हो गई. इस दौरान मोदी ने लद्दाखी पोशाक पहन रखी थी. उन्होंने अपने भाषण की शुरुआत लद्दाखी भाषा से की.

पीएम मोदी बोले- सिर्फ चुनाव जीतने के लिए किसानों की कर्ज माफी की घोषणा करती है कांग्रेस

जनसभा को संबोधित करते पीएम मोदी.

मोदी ने कहा कि इन मेडिकल कॉलेजों में सत्र जल्द शुरू होगा. पिछले 70 साल से एमबीबीएस की केवल 500 सीटें थीं, लेकिन भाजपा सरकार ने अब सीटों को दोगुना कर दिया है. उन्होंने जम्मू में आईआईएमसी के उत्तर क्षेत्रीय केंद्र के परिसर का शिलान्यास किया. इसका निर्माण 16 करोड़ रुपये की लागत से किया जाएगा. आईआईएमसी के महानिदेशक के जी सुरेश ने इस अवसर पर कहा, ‘‘यह हमारे लिए गौरव का क्षण है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां आईआईएमसी परिसर की आधारशिला रखी है.’’


पीएम-किसान योजना के तहत इसी महीने 12 करोड़ किसानों के खाते में भेजे जाएंगे 2000 रुपए!

प्रधानमंत्री ने किश्तवाड़ में 624 मेगावाट की कीरू पनबिजली परियोजना की भी आधारशिला रखी. उन्होंने नौ मेगावाट की डाह जलविद्युत परियोजना का उद्घाटन किया. मोदी ने 220 किलोवाट की श्रीनगर-आलुस्टेंग-द्रास-करगिल-लेह ट्रांसमिशन प्रणाली को भी राष्ट्र को समर्पित किया. इस महत्वपूर्ण परियोजना का शिलान्यास मोदी ने अगस्त 2014 में किया था. उन्होंने सजवाल में चिनाब नदी पर 1640 मीटर चौड़े दोहरी लेन वाले पुल की आधारशिला रखी. मोदी ने कहा, “यहां विश्वविद्यालय स्थापित करने की लंबे समय से चली आ रही आपकी मांग आज पूरी हो रही है.” प्रधानमंत्री के दौरे के मद्देनजर श्रीनगर में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं निलंबित कर दी गई हैं.