श्रीनगर. जम्मू कश्मीर पुलिस ने दो दिन पहले एक निजी ट्वीटर एकाउंट पर अपलोड की गई खुफिया सूचना सभी सुरक्षा एजेंसियों के साथ साझा की थी. इसमें पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद ने सुरक्षा बलों पर आत्मघाती हमला करने की धमकी दी थी.

अधिकारियों ने बताया कि जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में बृहस्पतिवार को जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकवादी ने विस्फोटकों से लदे वाहन से सीआरपीएफ जवानों की बस को टक्कर मार दी. इसमें कम से कम 40 जवान शहीद हो गये और कई गंभीर रूप से घायल हो गए.

सोमालिया की तरह ही हुआ हमला
राज्य पुलिस द्वारा जारी खुफिया जानकारी ट्वीटर हैंडल से जुड़ा था जिसमें 33 सकेंड के एक वीडियो में आतंकवादी सोमालिया में जवानों पर हमला करते हुये नजर आ रहे हैं. वीडियो में जिस तरीके से हमला किया गया है उसी तरीके से गुरुवार को दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों को लेकर जा रही एक बस पर हमला किया गया.

कैसे हुए हमला
78 वाहनों के काफिले में 2,547 सीआरपीएफ जवान जम्मू के ट्रांजिट शिविर से श्रीनगर की ओर जा रहे थे. श्रीनगर से करीब 30 किलोमीटर दूर पुलवामा जिले के लेथपोरा इलाके में श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग पर एसयूवी चला रहे आत्मघाती हमलावर ने दोपहर करीब सवा तीन बजे अपने वाहन से सीआरपीएफ की बस में टक्कर मारी दी. इसके बाद बहरा कर देने वाला धमका हुआ. हमला इतना जबरदस्त था कि सीआरपीएफ की बस के परखच्चे उड़ गए. एक रिपोर्ट में कहा गया कि एसयूवी 200 किलो विस्फोटक से भरी हुई थी, जिसमें संभवत: आरडीएक्स हो सकता है. सीआरपीएफ अधिकारियों ने बताया कि आतंकियों द्वारा मुख्य रूप से निशाना बनाई गई बस पूरी तरह से तबाह हो गई और अन्य सीआरपीएफ वाहनों को आंशिक नुकसान पहुंचा.