जम्मू/श्रीनगर: जम्मू एवं कश्मीर में शनिवार को सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच दो अलग-अलग स्थानों पर हुई मुठभेड़ में छह आतंकवादी मारे गए, जिसमें से तीन पाकिस्तानी थे. इन मुठभेड़ों में एक जवान शहीद हो गया, जबकि दो पुलिसकर्मी घायल हो गए. पुलिस सूत्रों ने कहा कि उत्तरी कश्मीर के गांदरबल जिले के नारनाग वन क्षेत्र में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच हुई मुठभेड़ में तीन आतंकी मारे गए. सूत्रों के मुताबिक आतंकियों के इस समूह ने हाल ही में गुरेज सेक्टर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) से घुसपैठ की होगी.

दूसरी, घटना में जम्मू क्षेत्र के रामबन जिले के थोर इलाके में सुरक्षबालों और आंतकियों के बीच हुई मुठभेड़ में तीन आतंकी मारे गए. आतंकी एक घर में घुस गए और वहां मौजूद लोगों को बंधक बना लिया. बाद में बंधकों को छुड़ा लिया गया लेकिन इस दौरान गोलीबारी में एक जवान शहीद हो गया वहीं दो पुलिसकर्मी घायल हो गए.

वहीं, रामबन में हुई मुठभेड़ में एक आतंकी छिपा हुआ था. रामबन की एसएसपी अनीता शर्मा ने उससे सरेंडर करने की अपील की. एसएसपी ने अनाउंस कर कहा कि ‘ओसामा तुम्हें कुछ नहीं होगा, बाहर आ जाओ. ओसामा, तुम्हें 15 मिनट दिए गए थे, 15 मिनट हो चुके हैं. बाहर आ जाओ. मैं हूं यहां. तुम्हें कोई कुछ नहीं करेगा.’ एसएसपी ने कहा- ‘ओसामा तुम्हारी सबसे बात करा देंगे. तुम बाहर आ जाओ. मेरे होते हुए तुम्हें कोई फिक्र की ज़रूरत नहीं है. आ जाओ बाहर’ महिला एसएसपी दरअसल चाहती थीं कि आतंकी सरेंडर कर दे. उन्हें उसका नाम भी पता था.

यूएस से लौटने के बाद पीएम मोदी ने कहा- आज से ठीक तीन साल पहले मैं पूरी रात सो नहीं पाया था, क्योंकि..

पाकिस्तान पिछले तीन दिनों से गुरेज सेक्टर में संघर्ष विराम का उल्लंघन कर रहा है. रक्षा सूत्रों का कहना है कि इसके जरिए पाकिस्तान घुसपैठ कराने की कोशिशें कर रहा है. मारे गए आतंकवादी हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकी थे. उनके पास से हथियार और गोलाबारूद बरामद किए गए हैं. पुलिस ने कहा कि उन्होंने चिनाब घाटी में एक बार फिर से आतंकवाद को पुन: जीवित करने के उद्देश्य से घुसपैठ की थी. इस बीच, श्रीनगर के पुराने शहर क्षेत्र नवा कदल में आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों पर ग्रेनेड फेंका. पुलिस ने कहा है कि ग्रेनेड हमले से किसी प्रकार का कोई नुकसान नहीं हुआ है.