श्रीनगर: जम्मू कश्मीर के शोपियां जिले में रविवार को सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए. पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि सुरक्षा बलों को दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले के हिन्द सीतापुर इलाके में आतंकवादियों के छिपे होने की सूचना मिली थी, जिसके बाद इलाके की घेराबंदी की गई और तलाश अभियान चलाया गया.

उन्होंने बताया कि तलाश अभियान के दौरान आतंकवादियों ने उन पर गोलियां चलाईं जिसके बाद सुरक्षा बलों ने भी जवाबी कार्रवाई की. इसके बाद दोनों ओर से मुठभेड़ शुरू हो गई जिसमें दो आतंकवादी मारे गए. प्रवक्ता ने बताया कि मारे गए आतंकवादियों के शव बरामद कर लिए गए हैं और उनकी शिनाख्त जावेद अहमद भट्ट और आदिल बशीर वानी के रूप में की गई है. भट्ट कुलगाम के रेडवानी का रहने वाला था. वहीं, वानी कुलगाम के डीएच पोरा के वारी पोरा क्षेत्र का रहने वाला था.

उन्होंने बताया कि पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार दोनों आतंकवादी लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े हुए थे. उन्होंने कहा, ‘‘दोनों आतंक से जुड़े अनेक अपराधों के मामले में वांछित थे, जिसमें सुरक्षा प्रतिष्ठानों पर हमले तथा नागरिकों का उत्पीड़न शामिल है. उनके खिलाफ आतंकवाद के अनेक मामले दर्ज हैं. प्रवक्ता ने बताया, ‘‘भट्ट का आतंकी अपराध का लंबा रिकॉर्ड रहा है तथा उस पर क्षेत्र में आतंकवादी हमले की योजना बनाने और उन्हें अंजाम देने के अनेक मामले दर्ज हैं. वह कुलगाम और आस-पास के क्षेत्रों से युवकों को आतंकवादी संगठनों में शमिल करता था.’’

पीएम मोदी बोले- क्या ‘मेरे जवानों’ को आतंकियों पर गोली चलाने को चुनाव आयोग से पूछने जाना होगा?

इसी प्रकार से वानी अनेक आतंकवादी हमलों में शामिल था और उस पर भी आतंकवाद से जुड़े अनेक मामले दर्ज थे. अधिकारी ने बताया कि मुठभेड़ स्थल से हथियार और अन्य सामग्री बरामद की गई है. उन्होंने बताया कि पुलिस और सुरक्षा बलों के प्रयासों से यह सफल अभियान था जिसमें किसी तरह का कोई नुकसान नहीं हुआ.