श्रीनगर: ‘ऑपरेशन विजय’ के 20 साल होने पर शनिवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 1999 के करगिल युद्ध में शहीद होने वाले सैनिकों को जम्मू कश्मीर के द्रास सेक्टर में एक स्मारक पर श्रद्धांजलि दी. करगिल का दौरे पर आए रक्षा मंत्री कठुआ के उझ और सांबा जिले के बसंतर में सीमा सड़क संगठन द्वारा बनाए गए दो पुलों को राष्ट्र को समर्पित करेंगे.Also Read - J&K Encounter: शोपियां में आम नागरिक पर गोली चलाने के बाद रातभर चली मुठभेड़ में एक आतंकवादी ढेर

Also Read - आतंकी संबंधों के कारण जम्मू-कश्मीर के 6 सरकारी कर्मचारियों को किया जाएगा बर्खास्त

श्रीनगर स्थित रक्षा प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने बताया कि रक्षा मंत्री ने करगिल युद्ध स्मारक पर ऑपरेशन विजय के शहीदों की याद में माल्यार्पण किया. शहीदों के सम्मान में एक मिनट का मौन भी रखा गया. उन्होंने बताया कि बाद में सिंह द्रास के युद्ध स्मारक परिसर में स्थित वीर भूमि और ‘हट ऑफ रिमेमब्रेंस’ में भी गए. Also Read - महबूबा मुफ्ती का बड़ा ऐलान, 'जम्मू-कश्मीर का आगामी विधानसभा चुनाव लड़ेगी पीडीपी'

केंद्रीय मंत्रीय जितेंद्र सिंह व चीफ ऑफ आर्मी भी रहे मौजूद
प्रवक्ता ने बताया कि रक्षा मंत्री को ‘ऑपरेशन विजय’ और द्रास, करगिल तथा बटालिक सेक्टरों में दुश्मन के नापाक मंसूबों को नेस्तनाबूद करने के लिए भारतीय सैनिकों की कार्रवाई से भी अवगत कराया गया. कालिया ने बताया कि सिंह के साथ केंद्रीय मंत्रीय जितेंद्र सिंह और चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ जनरल बिपिन रावत भी थे.