भारत के सीमावर्ती राज्य जम्मू और कश्मीर में हाल के दिनों में हिंसा पर बुधवार को राज्यसभा में चर्चा हुई। इस चर्चा में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, “कश्मीर में जो कुछ भी हो रहा है, उसमें पाकिस्तान का हाथ है। सरकार ने यह भी घोषणा की कि जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर 12 अगस्त को एक सर्वदलीय बैठक बुलायी गयी है जिसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी भाग लेंगे। बता दें की विपक्ष की ओर से कश्मीर मुद्दे पर बोलने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर दबाव बढ़ता जा रहा है। सदन में केवल राजनाथ सिंह ने ही इस मुद्दे पर अपना पक्ष रखा है।

यह भी पढ़े: जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर कल होगी सर्वदलीय बैठक, प्रधानमंत्री भी होंगे शामिल 

इस दौरान गृह मंत्री ने यह भी साफ़ किया कि कश्मीर में लगातार कर्फ्यू नहीं लगाया गया है। हालांकि अभी हालात सामान्य नहीं हैं वहां पर. मगर सरकार पूरी कोशिश कर रही है की स्थिति जल्दी ठीक हो। उन्होंने यह भी कहा कि अगर पाकिस्तान के साथ वार्ता होगी, तो वह पाकिस्तान के कब्जे वाली कश्मीर को लेकर होगी। गृह मंत्री ने सदन को आश्वस्त कराया कि घाटी में किसी भी चीज की कमी न हो, इसके लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। गृह मंत्री ने कहा कि कर्फ्यू लगने के बाद से लेकर अब तक घाटी में 5,600 ट्रक पहुंच चुके हैं।

इससे पहले राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आज़ाद ने नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए कहा की फ्रीका में कोई घटना होती है तो वह अपना ट्वीट कर देते हैं. पाकिस्तान में कोई घटना हो तो भी अपनी सहानुभूति दिखाते हैं, पर अपने मुल्क का ताज जल रहा है और उसकी गर्मी दिल तक नहीं पहुंचती। उन्होंने आगे यह भी कहा की केवल कश्मीर से प्यार मत करो बल्कि वहां के लोगों से भी प्यार करो।