श्रीनगर: जम्मू एवं कश्मीर के अनंतनाग जिले में सोमवार को सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच हुई मुठभेड़ में दो आतंकवादी ढेर हो गए. आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया जानकारी मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने सोमवार को सुबह दक्षिण कश्मीर जिले के अचबल इलाके में घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू किया था. इस दौरान आतंकियों की गई फायरिंग के जवाब के बाद से मुठभेड़ शुरू हो गई. इस दौरान दो आतंकी ढ़ेर हो गए और सेना के एक अधिकारी सहित तीन जवान घायल हो गए हैं। पुलिस ने इसकी जानकारी दी.

पुलिस ने बताया, “तीनों घायलों को अस्पताल में दाखिल करा दिया गया है, वहीं कुछ आतंकवादी अभी भी गोलीबारी कर रहे हैं.इनके शवों को कब्‍जे में लेने के बाद से दोबारा मुठभेड़ शुरू हो गई थी.

बता दें कि पिछले हफ्ते बुधवार यानि 12 जून को आतंकियों ने सीआरपीएफ जवानों पर अंधाधुंध फायरिंग की थी, जिसमें सीआरपीएफ के पांच जवान शहीद हुए थे.

सुरक्षाबलों पर गोली चलाने के बाद शुरू हुई मुठभेड़
राष्ट्रीय राइफल्स (आरआर) और राज्य पुलिस कर्मियों के विशेष अभियान समूह (एसओजी) ने आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना के बाद अचबल क्षेत्र के बिदूरा गांव की घेराबंदी की. आतंकवादियों के सुरक्षा बलों पर गोली चलाने के बाद तलाशी अभियान मुठभेड़ में बदल गया.

डीजीपी बोले- एनकाउंटर अभी जारी है
जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह आज अनंतनाग एनकाउंटर पर: मुठभेड़ अभी जारी है, एनकाउंटर खत्म होते ही हम आपको और जानकारी दे पाएंगे.

दोनों आतंकियों के शव कब्‍जे में लिए
एक पुलिस अधिकारी ने बताया, “घेराबंदी जैसे ही कड़ी की गई, आतंकवादियों ने गोलीबारी शुरू कर दी, जिसके बाद दोनों ओर से मुठभेड़ शुरू हो गई. मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए हैं और उनके शवों को कब्जे में ले लिया गया है.”

दोबारा मुठभेड़ शुरू
पुलिस अधिकारी ने कहा, “मारे गए आतंकवादियों की पहचान और वे किस संगठन से जुड़े हैं, इसका पता लगाया जा रहा है.” शवों को बरामद करने के बाद फिर से गोलीबारी शुरू हो गई. विस्तृत जानकारी की प्रतिक्षा की जा रही है.

अनंतनाग हमले में घायल पुलिस अधिकारी ने एम्स में दम तोड़ा
जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में बीते सप्‍ताह के बुधवार यानि 12 जून को आतंकवादी हमले में घायल हुए पुलिस इंस्पेक्टर अरशद अहमद खान का यहां अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में रविवार को निधन हो गया. खान की स्थिति बिगड़ने के बाद उन्हें रविवार सुबह दिल्ली लेकर आया गया था.

हमले में पांच पुलिसकर्मी शहीद हुए थे
इस आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के पांच पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे. हमले में जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकवादी ने सीआरपीएफ के गश्ती दल को निशाना बनाया था.

थाने प्रभारी खान मुठभेड़ शुरू होते ही पहुंचे थे मुकाबला करने
अनंतनाग के सदर पुलिस थाने के प्रभारी खान मुठभेड़ शुरू होते ही मौके पर पहुंचे थे. अधिकारियों ने बताया कि वह जैसे ही अपनी सर्विस राइफल के साथ बुलेटप्रूफ वाहन से बाहर आए, आतंकवादियों ने उन पर गोलियां बरसानी शुरू कर दी. एक गोली उनके राइफल की बट से टकरा गई और वह घायल हो गए थे. इसके बाद आतंकवादी हमले में घायल हुए पुलिस इंस्पेक्टर अरशद अहमद खान का नई दिल्‍ली में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती कराया गया था, जहां रविवार को निधन हो गया. (इनपुट: एजेेंसी)