जम्मू एवं कश्मीर: छह दिन बंद रहने के बाद जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग को आज खोलने में सफलता मिली. पिछले 6 दिनों से राजमार्ग बंद होने के चलते यहां हजारों वाहन फंसे हुए थे. जम्मू-कश्मीर के परिवहन अधिकारी ने जानकारी देते हुए इस बाबत बताया कि जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग लगातार छह दिनों तक बंद रहने के बाद रविवार को यातायात के लिए खोल दिया गया.

काम जारी है
अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि- रामबन जिले में राजमार्ग पर भूस्खलनों के सारे मलबे को शनिवार शाम को हटा दिया गया. कश्मीर घाटी के लिए जरूरी सामान ले जा रहे 80 से अधिक ट्रकों को राजमार्ग पर जाने की इजाजत दे दी गई है. राजमार्ग पर अनोखी फॉल इलाके में रविवार सुबह भूस्खलन हुआ, लेकिन अधिकारियों ने कहा कि सफाई का काम पहले ही जारी है. भू स्खलन के चलते राजमार्ग लगातार छह दिनों से बंद था, जिसके कारण 2,000 से ज्यादा वाहन फंसे हुए थे.


कहां कितनी ठंड
वहीँ इलाके में बर्फ़बारी के चलते ठंड से फिलहाल कोई राहत मिलने के आसार नहीं नजर आ रहे हैं. लद्दाख क्षेत्र में रविवार को द्रास राज्य का सबसे ठंडा स्थान रहा, जहां न्यूनतम तापमान शून्य से 28.7 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया. मौसम विभाग के अधिकारी ने कहा कि शनिवार को द्रास में अधिकतम तापमान भी शून्य से नीचे रहा, जो कि शून्य से 10.1 डिग्री नीचे दर्ज किया गया.

मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा, राज्य में न्यूनतम तापमान में और गिरावट आने की संभावना है और मौसम अगले तीन दिनों तक शुष्क रहने के आसार हैं. रविवार को श्रीनगर में न्यूनतम तापमान शून्य से 1.4 डिग्री नीचे, जबकि पहलगाम में शून्य से 13 डिग्री नीचे और गुलमर्ग में शून्य से 12 डिग्री नीचे दर्ज किया गया. लेह में रात का न्यूनतम तापमान शून्य से 15.5 डिग्री नीचे और कारगिल में शून्य से 20.7 डिग्री नीचे दर्ज किया गया. जम्मू में न्यूनतम तापमान 4.1 डिग्री, कटरा में 3.8 डिग्री, बटोटे में शून्य से 2.7 डिग्री नीचे, बनिहाल में शून्य से 2.5 डिग्री नीचे और भदरवाह में शून्य से 3.4 डिग्री नीचे दर्ज किया गया.

प्रियंका गांधी 4 फरवरी को कुंभ में डुबकी लगाने के बाद संभालेंगी कांग्रेस महासचिव का पद?