श्रीनगर, 10 मार्च | जम्मू एवं कश्मीर में घाटी को देश के बाकी हिस्सों से जोड़ने वाला जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग मंगलवार को एकतरफा यातायात के लिए खोल दिया गया। राज्य में भारी हिमपात और भूस्खलन के कारण राजमार्ग पिछले दो दिनों से बंद था। एक वरिष्ठ यातायात अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, “जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग को एकतरफा यातायात के लिए आज (मंगलवार) खोल दिया गया।” यह भी पढ़ें– कश्मीर में भारी बर्फबारी, राजमार्ग बंद

अधिकारी ने बताया, “वाहनों को जम्मू से श्रीनगर की तरफ जाने दिया जा रहा है, लेकिन विपरीत दिशा से वाहनों के परिचालन की अनुमति नहीं है।” रामबन जिले में भूस्खलन और बनिहाल में हिमपात के कारण रविवार को 300 किलोमीटर लंबे जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग को बंद करना पड़ा था। यह कश्मीर घाटी को देश के बाकी हिस्सों से जोड़ने का एकमात्र सड़क मार्ग है। पेट्रोल, रसोई गैस और रोजमर्रा की जरूरतों के सामान की आपूर्ति इसी राजमार्ग के जरिये घाटी में की जाती है। यह भी पढ़ें– हिमपात के बाद शीतलहर से कांपा हिमाचल

मौसम में सुधार की संभावना को देखते हुए उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर वाहनों का नियमित परिचालन शुरू कर दिया जाएगा। राज्य के ऊर्जा विकास विभाग (पीडीडी) के अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि घाटी में सोमवार शाम तक 70 प्रतिशत बिजली आपूर्ति बहाल की दी गई। पीडीडी के एक वरिष्ठ अभियंता ने आईएएनएस को बताया, “हमें आशा है कि मंगलवार दोपहर तक नियमित वितरण पुन: बहाल कर दिया जाएगा।”

राज्य के अंदर अंतर जिला सड़क संपर्क भी जल्द ही पुन: बहाल की जाएगी। बीते तीन दिनों से राज्य में हो रहे भारी हिमपात के कारण बिजली के खंभे क्षतिग्रस्त हो गए, जिसके कारण घाटी में बिजली आपूर्ति बाधित रही। मौसम विभाग ने कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में अगले 15 दिनों में मौसम में सुधार आने की संभावना है।