नई दिल्ली: केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ कांग्रेस पार्टी आज दिल्ली के रामलीला मैदान में एक बड़ी रैली करेगी. इस रैली को ‘जन आक्रोश रैली’ का नाम दिया गया है. इस रैली को सफल बनाने के लिए देशभर से कांग्रेस कार्यकर्ता आज दिल्ली के रामलीला मैदान में जुटेंगे. इस रैली को 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस के प्रचार अभियान की शुरुआत भी माना जा रहा है. इस रैली को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत तमाम बड़े कांग्रेसी नेता संबोधित करेंगे. कांग्रेस अध्यक्ष पद संभालने के बाद राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में राहुल गांधी की यह पहली बड़ी रैली होगी.

राष्ट्रीय स्तर की जन आक्रोश रैली महत्वपूर्ण कर्नाटक चुनाव से पहले हो रही है. कर्नाटक में विधानसभा चुनाव 12 मई को होना है. राजनीतिक जानकारों के मुताबिक राहुल इस रैली में केंद्र की भाजपा सरकार पर उसके अधूरे वादों और बांटने वाली राजनीति को लेकर हमला बोलेंगे.

राहुल गांधी कुशासन, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी, आर्थिक स्थिति, महिलाओं के खिलाफ अपराध, दलितों एवं न्यायपालिका पर हमलों और सामाजिक अशांति जैसे मुद्दों पर जनता के आक्रोश को आवाज देने का कोशिश करेंगे. पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सहित पार्टी के शीर्ष नेता भी रैली को संबोधित करेंगे.

रैली से पहले राहुल ने शनिवार को ट्वीट किया, ‘‘मोदी सरकार के चार वर्षों में युवाओं को रोजगार नहीं मिला, महिलाओं को सुरक्षा नहीं मिली, किसानों को अपने फसल की वाजिब कीमत और दलितों और अल्पसंख्यकों को उनके अधिकार नहीं मिले.’’ उन्होंने लोगों से अपील की कि वे अपना असंतोष और आक्रोश व्यक्त करने के लिए रैली में शामिल हों.

कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत ने रैली के बारे में बताते हुए संवाददाताओं से कहा, ‘‘आक्रोश समाज के सभी वर्गों जैसे गरीब, वृद्ध, युवा, किसान, महिलाओं में है. इसलिए इस रैली का नाम जन आक्रोश रैली रखा गया है.’’ उन्होंने कहा कि राहुल गांधी, सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह कांग्रेसियों को संबोधित करेंगे और भाजपा को सत्ता से हटाने के लिए एकजुट होने का आह्वान करेंगे जो कि ‘‘समाजिक अशांति उत्पन्न कर रही है और समाज को बांट रही है.’’

कांग्रेस के मीडिया विभाग के प्रमुख रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि कर्नाटक से भाजपा का सफाया करने के लिए स्पष्ट आह्वान किया जाएगा. रैली राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, मिजोरम और कई अन्य राज्यों के आगामी चुनाव में कांग्रेस के लिए एक ‘‘निर्णायक जीत सुनिश्चित करेगी.’’ इसकी परिणति 2019 में मोदीजी के कुशासन के खात्मे के साथ होगी.

उन्होंने कहा कि लड़ाई की आज से शुरूआत होगी, एक नई क्रांति शुरू होगी, जनता के लिए संघर्ष के लिए, कांग्रेस कार्यकर्ता और कांग्रेसी महिला कार्यकर्ता इस संदेश को प्रसारित करने के लिए देश के कोने कोने में जाएंगे. सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष, सीएलपी नेता, मुख्यमंत्री, पूर्व मुख्यमंत्री, सांसद और विधायक रैली में मौजूद रहेंगे.

(इनपुट: एजेंसी)