Also Read - जयललिता का किरदार निभाने की तैयारी में कंगना रनौत, एमजीआर के रोल में दिखेंगे 'रोजा' फेम अरविंद स्वामी

चेन्नई, 24 दिसम्बर:  ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुन्नेत्र कड़गम (एआईएडीएमके) की महासचिव जे. जयललिता ने विख्यात तमिल फिल्म निर्देशक के. बालचंदर (84) के निधन पर शोक जताते हुए कहा कि उन्होंने महिला-केंद्रित फिल्में बनाईं और उनकी समस्याओं को सामने लेकर आए। बालचंदर ने मंगलवार को अंतिम सांस ली। वह पिछले कुछ दिनों से अस्पताल में भर्ती थे। जयललिता ने उनके निधन पर शोक जताते हुए एक बयान में कहा कि दिग्गज बालचंदर ने हिंदी, तेलुगू और कन्नड़ फिल्मों में भी अपनी पहचान बनाई। Also Read - जयललिता पर बनी वेब सीरीज 'क्वीन' से नाराज हैं उनके भतीजे, कहा-मानहानि का केस करूंगा

उन्होंने कहा कि बालचंदर ने ‘नीरकुमिझी’, ‘मेजर चंद्रकांत’, ‘एथिर नीचल’, ‘नानल’ और ‘विनोद ओप्पंदम’ जैसे लोकप्रिय नाटकों का मंचन भी किया।  जयललिता ने कहा कि बालचंदर का निधन फिल्म जगत के लिए एक बहुत बड़ी क्षति है और उनकी कमी को कोई और पूरा नहीं कर सकता। Also Read - जयललिता के 75 दिन के इलाज पर खर्च हुए 6.85 करोड़, 44.56 लाख अब भी बकाया