बेंगलुरू: कर्नाटक के राज्‍यपाल वजूभाई वाला द्वारा बीजेपी नेता बी एस येदियुरप्‍पा को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करने के फैसले पर जेडीएस नेता एच डी कुमारस्‍वामी ने तीखी प्रतिक्रिया दी है. मीडियाकर्मियों से बातचीत में उन्‍होंने कहा कि राज्‍यपाल ने बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का समय दिया है. इससे स्‍पष्‍ट है कि वे राज्‍य में खरीद-फरोख्‍त को बढ़ावा दे रहे हैं. Also Read - बिहार में मुस्लिम विधायकों को लेकर उथल-पुथल तेज, CM नीतीश के इस कदम से ओवैसी और कांग्रेस टेंशन में

कुमारस्‍वामी ने यह भी कहा कि राज्‍यपाल का यह फैसला असंवैधानिक है. इसका विरोध हमें कैसे करना है, इस पर हम विचार करेंगे. इससे पहले राज्‍यपाल ने विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद 24 घंटे से व्‍याप्‍त अनिश्चितता को खत्‍म करते हुए बुधवार शाम बीजेपी विधायक दल के नेता बी एस येदियुरप्‍पा को सरकार बनाने का न्‍योता दिया.

जेडीएस और कांग्रेस गठबंधन विधानसभा में बहुमत के दावे के साथ राज्‍यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश किया था. कुमारस्‍वामी ने 117 विधायकों की लिस्‍ट राज्‍यपाल को सौंपी थी. इसके बावजूद बीजेपी को पहले आमंत्रित करने के फैसले के बाद जेडीएस राज्‍यपाल के खिलाफ आक्रामक हो गया है. कांग्रेस पार्टी ने भी राज्‍यपाल पर केंद्र की कठपुतली के रूप में काम करने का आरोप लगाया है. पार्टी के प्रवक्‍ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि यह फैसला असंवैधानिक है और राज्‍यपाल केंद्र के इशारे पर काम कर रहे हैं.