बेंगलुरु. कर्नाटक चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है, सभी पार्टियां पूरी ताकत लगा रही हैं. पूर्व प्रधानमंत्री और जेडीएस नेता एचडी देवगौड़ा ने मंगलवार को कहा, बीजेपी शासन में कर्नाटक को काफी संघर्ष करना पड़ा. पांच साल में तीन मुख्यमंत्री मिले. बीजेपी का यही योगदान है. वहीं, कांग्रेस के 5 साल के शासन में एक सीएम मिला, लेकिन लोकायुक्त के मामले में क्या हुआ? पब्लिक सर्विस कमीशन और कॉरपोरेशन का क्या हुआ?

देवगौड़ा ने कहा, कॉरपोरेशन में कांग्रेस को सपोर्ट करने के कारण मेरे ऊपर आरोप लगा. मैं अपनी सेक्युलर छवि को बनाए रखने के लिए कांग्रेस को सपोर्ट करने को तैयार हो गया. बीजेपी मेरे दरवाजे पर थी, लेकिन मैंने उसे मना कर दिया. लेकिन, कांग्रेस को सपोर्ट करने के बाद आज हमारी क्या स्थिति है?

उन्होंने कहा, पहले दिन से मैं सेक्यूलरिज्म के लिए खड़ा हूं, न कि किसी भावनात्मक राजनीति के लिए. जब मैं मुख्यमंत्री बना था तो मैंने डीजी रामलिंगम से पूछा था कि पुलिस डिपार्टमेंट में कितने मुस्लिम कॉन्स्टेबल हैं? उन्होंने कहा, 0.01%. तो ये मेरी मानवता थी कि जिसकी वजह से मैंने आरक्षण दिया.