बेंगलुरु: जनता दल (सेक्यूलर) जेडीएस ने जयनगर विधानसभा सीट से अपना उम्मीदवार वापस ले लिया है. पार्टी ने सत्तारूढ़ गठबंधन में शामिल कांग्रेस को समर्थन देने का ऐलान किया है. इस सीट पर 11 जून को मतदान होना है. जेडीएस अध्यक्ष और पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगौड़ा ने पार्टी उम्मीदवार कालेगौड़ा के चुनावी मैदान से हटने का ऐलान किया. उन्होंने कहा कि पार्टी कांग्रेस की सौम्या रेड्डी को समर्थन करेगी. उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं से सौम्या के पक्ष में काम करने को कहा. कर्नाटक विधानसभा के लिए 12 मई को मतदान हुआ था लेकिन बीजेपी उम्मीदवार बी एन विजयकुमार के निधन के कारण जयनगर सीट पर चुनाव रद्द कर दिया गया था. बीजेपी ने विजयकुमार के भाई बी एन प्रहलाद को प्रत्याशी बनाया है. Also Read - West Bengal Assembly Election: कांग्रेस का ममता बनर्जी को बड़ा ऑफर, कहा- पश्चिम बंगाल में मिलकर चुनाव लड़े TMC, बीजेपी से...

कौन हैं सौम्या रेड्डी
छह बार से विधायक और राज्य के गृहमंत्री रामलिंगा रेड्डी की बेटी हैं सौम्या रेड्डी. वह पहली बार चुनाव लड़ रही हैं. सौम्या की पहचान पर्यावरण कार्यकर्ता के रूप में है. साल 2015 में जब उनकी शादी हुई तो उसे इको फ्रेंडली शादी के रूप में चर्चा मिली थी. जयनगर विधानसभा में कुल 1,95,404 वोटर हैं. Also Read - कृषि कानूनों के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन, राहुल-प्रियंका भी हुए शामिल, कहा- पूंजीपतियों को फायदा पहुंचा रही बीजेपी

इनसे है मुकाबला
बीजेपी उम्मीदवार बी एन विजयकुमार के निधन के बाद उनके छोटे भाई बीएन प्रह्लाद को बीजेपी ने टिकट दिया है. प्रह्लाद का कहना है कि अपने भाई के लेवल पर पहुंच पाना मेरे लिए मुश्किल है. उन्होंने बहुत कुछ किया है. पांच भाइयों में सबसे छोटे प्रह्लाद जीत को लेकर पूरी तरह आश्वस्त हैं. प्रह्लाद एक सामाजिक संस्था राष्ट्रोत्थान परिषद में 18 साल तक काम कर चुके हैं. वो कहते हैं कि उनके भाई की छवि और समाज के लिए किए गए उनके कार्य को लोग नहीं भूलेंगे और मुझे जीताने में मदद करेंगे. Also Read - राहुल गांधी की अपील- पेट्रोल-डीज़ल के बढ़ते जा रहे दाम, किसान भी परेशान, सरकार के खिलाफ 'सत्याग्रह' में शामिल हों लोग