नई दिल्ली: भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर (Pragya Singh Thakur) के महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) के हत्यारे नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) को लेकर दिए विवादास्पद बयान पर कांग्रेस निंदा प्रस्ताव लाने के लिए प्रतिबद्ध है. प्रज्ञा ने बुधवार को लोकसभा में विशेष सुरक्षा समूह (एसपीजी) विधेयक पर चर्चा के दौरान गोडसे पर बयान दिया था, जिसे बाद में संसद की कार्यवाही से हटा दिया गया. कांग्रेस के वरिष्ठ सांसद शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने कहा कि उन्होंने इस बाबत एक आवेदन का मसौदा तैयार किया है और वह जल्द ही विपक्षी पार्टियों से इस पर चर्चा करेंगे. थरूर ने कहा, “हमने बयान के लिए प्रज्ञा ठाकुर से तत्काल माफी की मांग की थी, लेकिन उन्होंने सदन से माफी नहीं मांगी, इसलिए हमारे पास निंदा प्रस्ताव लाने के अलावा और कोई उपाय नहीं बचा है.”

वहीं दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी के सहयोगी जदयू (Jdu) ने बृहस्पतिवार को प्रज्ञा ठाकुर के मामले को लोकसभा की आचार समिति के भेजे जाने की मांग की. जद (यू) ने कहा कि भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर के नाथूराम गोडसे से जुड़े एक विवादित बयान से संबंधित मामले को सदन की आचार समिति के भेजा जाना चाहिए ताकि यह पता चल सके कि उनके इस आचरण से क्या उन्हें लोकसभा की सदस्यता से अयोग्य करार दिया जा सकता है.

गोडसे पर प्रज्ञा ठाकुर की टिप्पणी से लोकसभा में हंगामा, अध्यक्ष बोले- टिप्पणी दर्ज नहीं की गई

पार्टी के प्रवक्ता के सी त्यागी (K. C. Tyagi) ने भोपाल लोकसभा सीट से सांसद ठाकुर के खिलाफ भाजपा की अनुशासनात्मक कार्रवाई का स्वागत किया और कहा कि उनकी प्रतिक्रिया महात्मा गांधी के व्यक्तित्व और कार्यों पर सवाल उठाती हैं और उनके हत्यारे को गौरवान्वित करती हैं. त्यागी ने कहा, हम इस मामले को लोकसभा की आचार समिति के पास भेजे जाने की मांग करते हैं. यह देखना चाहिए कि उनके इस आचरण से क्या उन्हें उनकी लोकसभा की सदस्यता से अयोग्य करार दिया जा सकता है.’’

गौरतलब है कि प्रज्ञा ठाकुर ने लोकसभा में द्रमुक मुनेत्र कड़गम (DMK) नेता ए. राजा द्वारा गोडसे का संदर्भ दिए जाने के दौरान हस्तक्षेप करते हुए बयान दिया था, जिसका विपक्षी सांसदों ने भारी विरोध किया. बाद में हालांकि बयान को सदन की कार्यवाही से हटा लिया गया. राजा ने विशेष सुरक्षा समूह (संशोधन) विधेयक, 2019 पर बहस के दौरान गोडसे पर एक बयान का संदर्भ दिया था कि उसने गांधी को क्यों मारा, जिसपर प्रज्ञा ने प्रतिक्रिया देते हुए विवादास्पद बयान दिया.

(इनपुट-एजेंसी)