जम्मू। जम्मू कश्मीर में शहरी स्थानीय निकाय और पंचायत चुनाव में हिस्सा लेने के लिए एक और पार्टी राजी है. राज्य की जेडीयू इकाई ने बुधवार को का ऐलान किया लेकिन अपने प्रत्याशियों के लिए पर्याप्त सुरक्षा की मांग की. जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष जीएम शाहीन ने पत्रकारों से कहा कि हम शहरी स्थानीय निकाय और पंचायत चुनाव लड़ेंगे. उत्तर कश्मीर के कुपवाड़ा और बारामूला जिलों के हमारे प्रत्याशियों ने संबंधित प्राधिकारियों से फॉर्म लेना शुरू कर दिया है.

पीडीपी-एनसी पर लगाया आरोप

उन्होंने कहा कि हम राज्यपाल सत्यपाल मलिक से अपील करते हैं कि हमारे उम्मीदवारों और प्रत्याशियों की पर्याप्त सुरक्षा सुनिश्चित करें और निष्पक्ष और स्वतंत्र चुनाव सुनिश्चित करें. शाहीन ने नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी पर चुनाव का बहिष्कार कर राजनीति करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि अगर ऐसा था तो दोनों पार्टियों ने लद्दाख स्वायत्त पर्वतीय विकास परिषद के चुनाव में हिस्सा क्यों लिया?

जम्मू-कश्मीर: पंचायत चुनाव पर सरकार की तैयारी, कैंडिडेट को 10 लाख तक का मिल सकता है इंश्योरेंस

बता दें कि जम्मू कश्मीर में शहरी स्थानीय निकाय और पंचायत चुनाव में हिस्सा लेने से यहां की दो बड़ी पार्टियों पीडीपी और नेशनल कांफ्रेंस ने इनकार कर दिया है. आर्टिकल 35A के मुद्दे पर ज्यादातर पार्टियां पंचायत चुनाव से दूरी बनाने का ऐलान किया है. इसमें नेशनल कॉन्फ्रेंस (NC), पीपल डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP), सीपीएम (CPM) भी हैं.

इस मुद्दे पर नेशनल कॉन्फ्रेंस ने तो विधानसभा और लोकसभा चुनाव का भी बहिष्कार करने की धमकी दी है. उसकी मांग है कि सरकार 35ए पर अपनी स्थिति स्पष्ट करे. बहरहाल, कई दलों के बहिष्कार के बीच सरकार यहां चुनाव कराने को लेकर पूरी तरह तैयार है.