नई दिल्‍ली: कोरोना महामारी के चलते लॉकडाउन के बीच केंद्रीय मानव संस्‍साधन मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने गुरुवार को बताया है कि  JEE Advanced Exam 23 अगस्‍त को होगी. केंद्रीय मंत्री ने बताया कि गेट के अभ्‍यर्थियों का न्‍यूनतम स्‍कोर 750 से घटाकर 650 कर दिया गया है. वहीं, प्रधानमंत्री रिसर्च फैलोशिप से जोड़ने के लिए प्रक्र‍िया में भी बदलावा किया गया है, जिससे अधिक से अधिक शोधार्थियों को जोड़ा जा सकेगा. Also Read - कोरोना वायरस से प्रभावित टॉप 10 देशों की सूची में पहुंचा भारत, जून के अंत तक बहुत तेजी से बढ़ेंगे मामले

केंद्रीय मंत्री निशंक ने कहा कि यह अत्यंत हर्ष का विषय है कि माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के मार्गदर्शन में अधिक से अधिक प्रतिभावान होनहार विद्यार्थियों को प्रधानमंत्री रिसर्च फ़ेलोशिप (PMRF) से जोड़ने के लिए हमने चयन प्रक्रिया में कई परिवर्तन किए हैं. Also Read - पंजाब में कोविड-19 के 21 नए मामले सामने आये, कुल संख्या बढ़ कर 2,081 हुई

फ़ेलोशिप के लिए मान्यता प्राप्त संस्थानों एवं विश्वविद्यालयों से गेट (#GATE) अभ्यार्थियों का न्यूनतम स्कोर 750 से घटाकर 650 कर दिया गया है. क्वालिफिकेशन परीक्षा में न्यूनतम CGPA 8 है ताकि अधिक से अधिक विद्यार्थी इस प्रतिष्ठित फ़ेलोशिप की ओर आकर्षित हो और इसका लाभ ले सके.

मानव संसाधन मंत्री ने कहा कि सीधे प्रवेश के अतिरिक्त लेटरल एंट्री का भी प्रावधान किया गया है. लेटरल एंट्री से वे प्रतिभाशाली छात्र लाभान्वित होंगे, जो 12 या 24 महीने की पीएचडी रिसर्च कर चुके हैं.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि एक लंबी मांग को पूर्ण करते हुए अब समग्र NIRF रैंकिंग के 25 शीर्ष संस्थान वाले NIT भी इस महत्वपूर्ण फ़ेलोशिप की अनुदान संस्था बनकर शोध के उन्नयन में अपनी भागीदारी निभा सकते हैं.