केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड(सीबीएसई) द्वारा इंजीनियरिंग संस्थानों में प्रवेश के लिए ली गई ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन( जेईई) मेन्स एग्जाम 2017 का रिजल्ट 27 अप्रैल को घोषित हो गया है. इस परीक्षा में नाशिक की रहने वाली वृंदा नंदकुमार राठी लड़कियों में अव्वल आई हैं. इस बार की परीक्षा में देशभर के 1781 परीक्षा केंद्रों पर 10.2 लाख से अधिक छात्र इस परीक्षा में बैठे थे. इन सभी में वृंदा 321 वे स्थान रहीं.Also Read - Maharashtra Violence: हिंसा भड़कने से रोकने के लिए एडीजी रैंक के 4 सीनियर IPS अफसरों को विभिन्न शहरों में भेजा गया

वृंदा नाशिक के सेंट झेविअर्स हाई स्कुल की पढ़ने वाली हैं. वृंदा को दसवी में 94 प्रतिशत मिला था. अब वृंदा राठी का सपना है की IIT में शोध क्षेत्र में आगे बढ़ना चाहती है. परीक्षा दो अप्रैल को ऑफलाइन और आठ और नौ अप्रैल को ऑनलाइन तरीके से आयोजित की गई थी. जेईई-मेन परीक्षा में पास करने वाले उम्मीदवार जेईई-एडवांस्ड परीक्षा, 2017 में बैठने के योग्य होंगे. Also Read - Maharashtra: थोक मंडी में कम भाव मिले तो किसानों ने टमाटर सड़कों पर फेंका

10 लाख से ज्यादा विद्यार्थियों ने दी थी परीक्षा Also Read - राणे के बयान पर महाराष्ट्र में मचा बवाल: हुई पत्थरबाजी-फूंका गया पुतला, थप्पड़ के बदले मुर्गी चोर, देखें VIDEO

10 लाख से ज्यादा विद्यार्थियों ने परीक्षा में हिस्सा लिया. देश भर के एनआईटी, आईआईटी और अन्य सरकारी मान्यता प्राप्त इंजीनियरिंग संस्थानों में B.Tech./BE/B.Arch कोर्सेज में एडमिशन के लिए जेईई मेन परीक्षा आयोजित की जाती है. इसके अलावा देश के बहुत से निजी संस्थान भी जेईई मेन रिजल्ट का स्कोर स्वीकार करते हैं. परीक्षार्थी अपने स्कोर कार्ड का प्रिंट जरूर ले लें. अगर आप जेईई एडवांस के लिए क्वालिफाई हो जाते हैं को फौरन इससे जुड़ी सभी जानकारियां जुटाएं. अगर क्वालिफाई नहीं कर पाए हैं तो ऑल इंडिया रैंकिंग के आधार पर देखें कि आपको कहां एडमिशन मिल सकता है. देखें कि पिछले साल किस इंजीनियरिंग संस्थान ने कितनी कटऑफ पर एडमिशन दिया था.