मुंबईः मुंबई में जेट एयरवेज ने रविवार को 10 घरेलू उड़ानें रद्द कर दीं, जिससे एयरपोर्ट पर जेट एयरवेज के सैकड़ों यात्री फंसे रहे. एयरलाइन सूत्रों ने यह जानकारी दी. जेट एयरवेज ने कहा कि ‘संचालन संबंधी मुद्दों’ के कारण छत्रपति शिवाजी महाराज अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा (सीएसएमआईए) से उड़ानें रद्द की गईं. हालांकि एयरलाइन सूत्रों ने दावा किया कि ऐसा पायलटों की कमी के कारण हुआ.

एयरलाइन ने एक बयान में कहा, ‘संचालन से संबंधित कारणों के कारण जेट एयरवेज को अपनी कुछ घरेलू उड़ानें (18 नवंबर की) रद्द करनी पड़ीं. प्रभावित विमानों के यात्रियों को एसएमएस के जरिये उनके विमान के बारे में सूचना दे दी गयी थी. नियामक नीति के अनुसार यात्रियों को दूसरे विमानों में बैठने की व्यवस्था की गई है या उन्हें हर्जाना दिया गया है.’

नकदी संकट से जूझ रही जेट एयरवेज पिछले कई महीनों से अपने कर्मचारियों के वेतन तथा वेंडरों के भुगतान में देरी कर रही है. वह घाटे में चल रही है. उसे खरीदने की भी चर्चाएं चल रही हैं. इस बार सितंबर में समाप्त तिमाही में जेट एयरवेज को 1,261 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है. एक साल पहले समान तिमाही में उसने 71 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया था. यह लगातार तीसरी तिमाही है जबकि जेट एयरवेज को घाटा हुआ है.