नई दिल्लीः झारखंड विधानसभा चुनाव(jharkhand assembly election) के पांचवे और अंतिम चरण के लिए मतदान शुरू हो गए हैं. इस चरण में कुल सीटों के लिए मतदान डाले जाएंगे. इस आखिरी चरण में कुल 237 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला होगा. आज सुबह सात बजे से झारखंड के पांचवें चरण में राजमहल, बोरियो, बरहैट, जरमुंडी, सारठ, पौरैयाहाट, महेशपुर, शिकारीपाड़ा, नाला, जामताड़ा, दुमका, जामा, लिट्टीपाड़ा, पाकुड़, गोड्डा और महगामा सीटों पर मतदान शुरू हुआ.

आखिरी चरण के लिए सबसे बड़ी परीक्षा जेएमएम के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन की है जो कि दुमका और बरहेट सीट से चुनावी मैदान में उतरे हैं. सोरेन पिछले विधानसभा चुनाव में भी दो सीटों से अपनी किस्मत आजमाई थी लेकिन उन्हें दुमका सीट से हार का सामना करना पड़ा था जिसके बाद वे बरहेट सीट से जीत कर विधानसभा पहुंचे थे. आपको बता दें कि 2014 के झारखंड चुनाव में जेएमएम ने 16 में से 6 सीटों पर जीत दर्ज की थी.

इन चुनावों में भाजपा को पांच सीट कांग्रेस को तीन सीट और जेवीएम को सीटें हासिल हुईं थी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झारखंड के आखिरी चरण के मतदान को लेकर ट्वीट किया है. उन्होंने कहा कि झारखंड में पांचवें और आखिरी चरण का मतदान है मेरी सभी मतदाताओं से अनुरोध है कि वे लोकतंत्र के इस सबसे बड़े पर्व में ज्यादा से ज्यादा संख्या में भाग लें.

आखिरी चरण के मतदान को देखते हुए भारी मात्रा में सुरक्षा बत तैनात किया गया ताकि किसी भी प्रकार की अप्रीय घटना को रोका जा सके. इससे पहले के चरण में कुछ हिंसक घटनाएं हुईं थी जिसकों देखते हुए प्रशासन पूरी तरह से एहतियात बरत रहा है. लोग पोलिंग बूथ पर मतदान के लिए सुबह से ही आने लगे हैं.

अंतिम चरण के मतदान में 40,05,287 मतदाता 236 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे. इन 16 सीटों में से सात सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए सुरक्षित हैं.  झारखंड के मुख्य निर्वाचन अधिकारी विनय कुमार चौबे ने शुक्रवार को यहां बताया कि सभी 16 विधानसभा सीटों के लिए स्वतंत्र, शांतिपूर्ण, निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके से चुनाव कराने के लिए सारी तैयारियां की गयी हैं और प्रारंभिक सूचना के अनुसार सभी स्थानों पर मतदान की प्रक्रिया शांतिपूर्वक जारी है.

अनेक इलाकों के नक्सल प्रभावित होने के बावजूद सुबह से ही मतदाताओं की कतारें लगने की सूचना प्राप्त हुई है. चौबे ने बताया कि इन सभी सीटों के मतदान के लिए कुल 5,389 मतदान केंद्र बनाए गए हैं जिनमें शहरी क्षेत्र में 269 और ग्रामीण क्षेत्र में 5,120 मतदान केंद्र हैं. ये सभी मतदान केंद्र 4,096 मतदान केंद्र भवनों में स्थित हैं.

इन केंद्रों में कुल 40,05,287 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग कर सकेंगे जिनमें 20,49,921 पुरुष, 19,55,336 महिलाएं, 30 तृतीय लिंग के लोग है. इसके साथ ही 93,779 मतदाता (18-19 साल) पहली बार मतदान करेंगे, साथ ही, 41,505 मतदाता 80 साल से ज्यादा आयु के और 49,446 दिव्यांग मतदाता हैं.