मांडर (रांची): झारखंड में विधानसभा चुनाव के आड़ में हर पार्टी की तरफ से खूब बयानबाजी हो रही है. सत्ताधीश पार्टी और विपक्षी पार्टियों के बीच भी खूब आरोप प्रत्यारोप का खेल चल रहा है. झारखंड विधानसभा चुनावों के दूसरे चरण में बीस सीटों के लिए सात दिसंबर को होने वाले मतदान से पूर्व यहां भाजपा उम्मीदवार देब कुमार धान के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि विधानसभा चुनाव झारखंड की तस्वीर और तकदीर दोनों बदलेगा क्योंकि भाजपा का उद्देश्य सिर्फ गरीबों की सेवा करना है.

कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि इस पार्टी ने देश और समाज को बस तोड़ा है. उन्होंने इस कड़ी में जोड़ते हुए ये भी कहा कांग्रेस ने समाज में बंटवारा करना सिखाया है, जबकि  भाजपा का उद्देश्य सिर्फ गरीबों की सेवा है. नड्डा ने आरोप लगाया, ‘‘कांग्रेस जाति-पांत और अन्य आधार पर समाज को बांटने का काम किया है. लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए देश में सिर्फ एक जाति है और वह है गरीबी. इसीलिए वह सिर्फ दरिद्र नारायण की सेवा में लगे हैं.’’

झारखंड विधानसभा: मनोज तिवारी ने साधा विपक्ष पर निशाना, कहा- इनके पास एक ही मंत्र है, ‘झूठ’ और ‘लूट’

उन्होंने कहा कि केन्द्र की नरेन्द्र मोदी की सरकार और राज्य की भाजपा सरकार ने झारखंड में डबल इंजन के रूप में काम किया है और लोगों से अपील की कि इस डबल इंजन की सरकार को बनाए रखने के लिए भाजपा के पक्ष में मतदान करें ताकि विकास की गति कम न होने पाए.

नड्डा ने कहा, ‘‘जहां विपक्ष आदिवासी-गैर आदिवासी, जाति पांति और धर्म की राजनीति कर रहा है वहीं झारखंड की भाजपा सरकार ने केन्द्र की योजनाओं को सबसे पहले न सिर्फ लागू किया बल्कि लोगों को उनमें निहित लाभ से अधिक लाभ दिया. उदाहरण के तौर पर उज्ज्वला योजना में केन्द्र ने गरीबी रेखा से नीचे के लोगों को एक गैस सिलिंडर मुफ्त दिया लेकिन झारखंड सरकार ने अपने यहां दो सिलिंडर और एक गैस चूल्हा मुफ्त दिया.’’

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत जहां केन्द्र सरकार ने किसानों को छह हजार रुपये की सहायता दी लेकिन झारखंड सरकार ने प्रति एकड़ पांच हजार रुपये की दर से 25 हजार रुपये तक की अतिरिक्त सहायता किसानों को दी जिससे उन्हें 11 हजार रुपये से 31 हजार रुपये तक की मदद मिली. उन्होंने कहा कि अन्य केन्द्रीय कल्याण योजनाओं में भी झारखंड सरकार ने अपने लोगों को अधिक लाभ दिये हैं.

कर्नाटक में 15 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव कल, इतनी सीटों पर विजय से ही टिकी रहेगी BJP सरकार

नड्डा ने झारखंड मुक्ति मोर्चा के कांग्रेस पार्टी के साथ गठबंधन पर सवाल उठाते हुए पूछा कि आखिर झारखंड के निर्माण का विरोध करने वाली कांग्रेस के साथ झारखंड की आंदोलनकारी पार्टी कैसे गठबंधन कर सकती है? उन्होंने विपक्षी गठबंधन पर भ्रष्टाचारियों को प्रश्रय देने और राज्य को फिर से लूटने की तैयारी करने के आरोप लगाये. झारखं डमें इस वर्ष पांच चरण में मतदान हो रहे हैं और 23 दिसंबर को मतगणना का कार्यक्रम है.