रांची: झारखंड में हेमंत सोरेन मंत्रिमंडल का मंगलवार को यानी आज विस्तार किया जाएगा और सात नए मंत्रियों को राजभवन में शाम 3:45 बजे आयोजित शपथग्रहण समारोह में शपथ दिलाई जाएगी. समझा जाता है कि झाविमो से सत्ताधारी गठबंधन में आने वाले विधायकों एवं अन्य आकांक्षी लोगों के लिए एक मंत्री पद रिक्त रखा गया है. झारखंड राजभवन के उच्च पदस्थ सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू से भेंट कर उनसे अपने मंत्रिमंडल के विस्तार के लिए समय मांगा. Also Read - School Reopening Updates: इस राज्य में आज से खुलेंगे 10वीं, 12वीं के छात्रों के लिए स्कूल, इसको लेकर राज्य मंत्री ने कही ये बात

राजभवन सूत्रों ने बताया कि राज्यपाल ने मंगलवार शाम 3:45 बजे नए मंत्रियों के शपथ ग्रहण का समय निर्धारित किया है. शपथ ग्रहण का कार्यक्रम राजभवन के बिरसा मंडप में आयोजित होगा. उन्होंने बताया कि मंगलवार को कुल सात नये मंत्री शपथ लेंगे जिन्हें मिलाकर राज्य मंत्रिमंडल में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को मिलाकर कुल 11 मंत्री हो जायेंगे जो संविधान के अनुसार झारखंड में मंत्रियों की अधिकतम संभव संख्या से एक कम होगी. यहां कुल 82 विधायकों की विधानसभा है और अधिकतम 12 मंत्री बनाये जा सकते हैं. Also Read - Jharkhand News: कारकेड में घुसी स्कॉर्पियो, बाल-बाल बचे झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन

झारखंड में सीएए समर्थकों पर पथराव के बाद हिंसा मामले में 16 गिरफ्तार, एक घायल की मौत Also Read - झारखंड में सार्वजनिक जगहों पर छठ पूजा करने पर रोक, सरकार के विरोध में उतरी बीजेपी

उन्होंने बताया कि कल कांग्रेस कोटे से दो और झारखंड मुक्ति मोर्चा के कोटे से पांच मंत्री शपथ लेंगे. इससे 11 सदस्यीय मंत्रिमंडल में कांग्रेस के चार, झामुमो के मुख्यमंत्री समेत छह और राजद के एक मंत्री हो जायेंगे. मुख्यमंत्री ने अपने मंत्रिमंडल में एक पद रिक्त रखा है. समझा जाता है कि झारखंड विकास मोर्चा से सत्ताधारी गठबंधन में शामिल होने के प्रयास में जुटे तिर्की बंधु और प्रदीप यादव तथा कुछ असंतुष्ट विधायकों के लिए एक पद खाली रखा गया है.

झारखंड सरकार ने Corona Virus की निगरानी के लिए जारी किए परामर्श

इससे पहले मुख्यमंत्री और उनके साथ कांग्रेस के दो एवं राजद के एक विधायक ने मोराबादी मैदान में 29 दिसंबर को भव्य समारोह में शपथग्रहण किया था. इसके बाद 24 जनवरी को मंत्रिमंडल के विस्तार का कार्यक्रम रखा गया था जिसे चाईबासा में सात आदिवासियों की हत्या के बाद मुख्यमंत्री के अनुरोध पर स्थगित कर दिया गया था. हाल के चुनावों में भाजपा को मात देकर हेमंत सोरेन राज्य के 11वें मुख्यमंत्री बने हैं.

इनपुट-भाषा