नई दिल्ली: चुनाव आयोग ने झारखंड में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है. शुक्रवार को चुनाव आयोग ने बताया कि राज्य की सभी 81 सीटों पर 5 चरणों में मतदान होगा और 23 दिसंबर को मतगणना होगी. 30 नवंबर को पहले चरण का मतदान होगा. पहले चरण में 13 सीटों पर चुनाव होगा.

पहला चरण: 30 नवंबर
दूसरा चरण: 7 दिसंबर
तीसरा चरण: 12 दिसंबर
चौथा चरण: 16 दिसंबर
पांचवां चरण: 20 दिसंबर
मतगणना 23 दिसंबर को।

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने बताया कि पहले चरण में 13 विधानसभा सीटों पर 30 नवंबर को मतदान होगा. इसके बाद दूसरे चरण में 20 सीटों के लिये सात दिसंबर, तीसरे चरण में 17 सीटों के लिये 12 दिसंबर को, चौथे चरण में 15 सीटों के लिये 16 दिसंबर को और पांचवें एवं आखिरी चरण में 16 सीटों के लिये 20 दिसंबर को मतदान होगा. गौरतलब है कि झारखंड विधानसभा का कार्यकाल 5 जनवरी को समाप्त हो रहा है.

पांच चरण में मतदान कराने के सवाल पर अरोड़ा ने कहा कि 2009 और 2014 में भी झारखंड में पांच चरण में ही चुनाव हुआ था. उन्होंने दलील दी कि राज्य के 67 विधानसभा क्षेत्र नक्सली हिंसा से प्रभावित हैं. इन विधानसभा क्षेत्रों से संबधित 19 जिले गंभीर रूप से नक्सली हिंसा से प्रभावित हैं. ऐसे में स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव प्रक्रिया संपन्न कराने के लिये आयोग ने सभी पक्षकारों से गंभीर विचार विमर्श के बाद पांच चरण में चुनाव कराने का फैसला किया है.

उल्लेखनीय है कि झारखंड की विधानसभा का कार्यकाल अगले साल पांच जनवरी को समाप्त हो रहा है. राज्य में इस समय मुख्यमंत्री रघुवर दास की अगुवाई वाली भाजपा की सरकार कार्यरत है. मुख्यमंत्री के रूप में पांच साल का कार्यकाल पूरा करने वाले दास, झारखंड के पहले मुख्यमंत्री हैं.

अरोड़ा ने बताया कि चुनाव कार्यक्रम की शुक्रवार को घोषणा के साथ ही झारखंड में चुनाव आचार संहिता लागू मानी जायेगी. उन्होंने बताया कि राज्य में शांतिपूर्ण निर्वाचन प्रक्रिया संपन्न कराने के लिये सुरक्षा एवं अन्य जरूरी इंतजाम मुकम्मल कर लिये गये हैं.

झारखंड में विधानसभा की कुल 81 सीटों में से नौ सीटें अनुसूचित जाति और 28 सीटें अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों के लिये आरक्षित हैं. राज्य के 2.26 करोड़ मतदाताओं की शत प्रतिशत फोटो युक्त मतदाता सूची तैयार कर ली गयी हैं. राज्य के सभी मतदाताओं को फोटो युक्त मतदाता पहचान पत्र भी वितरित किये जा चुके हैं. बता दें कि झारखंड की कुल 81 सीटों में मौजूदा समय में बीजेपी के पास 37 सीटें हैं और कांग्रेस के पास केवल 6 सीटें हैं.