रांची: साढ़े नौ सौ करोड़ रुपये के चारा घोटाले में 14 साल तक की कैद की सजा पाने के बाद न्यायिक हिरासत में यहां रिम्स अस्पताल में अपना इलाज करा रहे राजद प्रमुख एवं बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की दोनों किडनी में संक्रमण है और उनका रक्त चाप एवं रक्त शर्करा भी स्थिर नहीं जिसके चलते उन्होंने खाना-पीना कम कर दिया है.

लालू प्रसाद यादव का रिम्स में इलाज कर रहे मुख्य चिकित्सक डा. उमेश प्रसाद ने यहां बताया कि जीएफआर (ग्लोमीरूलर फिल्ट्रेशन) घट जाने के कारण लालू की दोनों किडनी में संक्रमण पाया गया है और उनका रक्त चाप और रक्त शर्करा भी स्थिर नहीं है जिसके लिए उन्हें दवा दी जा रही है. वह वर्ष 2017 और 2018 में अनेक मामलों में दोषी करार दिये जाने के बाद जेल की सजा काट रहे हैं.

चिकित्सक ने बताया कि उनकी तबीयत स्थिर नहीं है और लालू पिछले दिनों से भोजन भी कम ले रहे हैं. आज शनिवार होने के कारण लालू यादव से मिलने उनके कुछ निकट रिश्तेदार भी अस्पताल पहुंचे थे.

आज से बदल गए ये ट्रैफिक नियम, संभलकर चलाइए गाड़ी, वरना चूक पड़ेगी बहुत भारी