श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर (Jammu & Kashmir Encounter) के शोपियां जिले में आज बुधवार को एनकाउंटर (Shopian Encounter
Update) में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में कुल तीन आतंकवादी मारे गए हैं. पुलवामा जिले में हुए एनकाउंटर में पहले एक आतंवादी मारा गया. इसके बाद दो आतंकवादी मारे गए.पुलिस ने बताया कि शोपियां जिले में बुधवार को सुरक्षाबलों ने एक मुठभेड़ में तीन आतंकवादियों को मार गिराया.Also Read - Indian Army, असम राइफल्स के पांच जवान मरणोप्रांत और एक सेवारत जवान शौर्य चक्र से सम्मानित

पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि शोपियां के चक-ए-चोलां गांव में आतंकियों की मौजूदगी की सूचना मिली थी जिसके बाद सुरक्षाबलों ने तलाशी और घेराबंदी अभियान चलाया. अधिकारी ने कहा कि आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों पर गोली चलाई जिसके बाद जवाबी फायर किया गया. Also Read - India ने Pakistan को फिर जमकर लगाई लताड़, कहा-ओसामा बिन लादेन भी तो पाक में ही मिला था, देखें VIDEO

मारे गए तीनों आतंकवाद‍ियों ने आम नागरिकों पर कई हमले किए
पुलिस अधिकारी ने कहा कि दोनों पक्षों की ओर से दिनभर चली गोलीबारी में तीन आतंकी मारे गए. पुलिस ने मारे गए आतंकवादियों की पहचान आमिर हुसैन, रईस अहमद और हसीब युसूफ के रूप में की है. पुलिस के प्रवक्ता ने कहा कि आधिकारिक रिकॉर्ड के अनुसार, तीनों आतंकवादी  आतंकी वारदात को अंजाम देने वाले समूहों से जुड़े थे, जिन्होंने सुरक्षाबलों और आम नागरिकों पर कई हमले किए थे. Also Read - J&K: Republic Day से एक द‍िन पहले आतंक‍ियों ने श्रीनगर में सुरक्षाकर्मियों पर ग्रेनेड हमला किया, 4 लोग घायल

आतंकवादियों के पास से एके-47  समेत कई हथियार और गोलाबारूद बरामद
प्रवक्ता ने कहा कि मारे गए आतंकवादियों के पास से हथियार और गोलाबारूद बरामद किये गए, जिसमें एक पिस्तौल और एक एके-47 राइफल शामिल है. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि सुरक्षाबलों को शोपियां के चक-ए-चोलान गांव में आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिली थी, जिसके बाद उन्होंने गांव की घेराबंदी की और वहां तलाश अभियान चलाया. उन्होंने बताया कि तलाश अभियान उस समय मुठभेड़ में बदल गया, जब आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों पर गोलियां चलानी शुरू कर दी. सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई की.

कश्मीर में अनुच्छेद 370 निरस्त किए जाने के बाद 366 आतंकी मारे गए
जम्मू एवं कश्मीर से अनुच्छेद 370 को निरस्त किए जाने के बाद 96 आम नागरिकों की हत्या हुई है, जबकि सुरक्षा बलों ने इस दौरान 366 आतंकवादियों को मार गिराया. केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने राज्यसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में बुधवार को यह जानकारी दी. उन्होंने यह भी बताया कि अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद कोई भी कश्मीरी पंडित या हिन्दू घाटी से विस्थापित नहीं हुआ है.

376 हटाए जाने के बाद कश्मीर में 376 हटाए जाने के बाद कुल 96 आम नागरिकों की हत्या हुई
केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने राज्यसभा में कहा, तथापि हाल ही में कश्मीर में रह चुके कुछ कश्मीरी पंडित परिवार, जिनमें अधिकतर महिलाएं और बच्चे हैं, जम्मू क्षेत्र में चले गए हैं. ये परिवार सरकारी कर्मचारियों के हैं. जिनमें से कई परिवार कर्मचारियों की आवाजाही के भाग के रूप में और शैक्षणिक संस्थानों में शीतकालीन अवकाश के चलते सर्दियों में जम्मू चले जाते हैं. बता दें कि कि पांच अगस्त 2019 को जम्मू एवं कश्मीर से अनुच्छेद 370 को निरस्त किया गया था. राय ने एक अन्य सवाल के जवाब में कहा कि 376 हटाए जाने के बाद कश्मीर में कुल 96 आम नागरिकों की हत्या हुई है, जबकि इस दौरान 366 आतंकवादियों को मार गिराया गया. इस अवधि में 81 सुरक्षा बलों की शहादत
हुई.