नई दिल्‍ली: जम्‍मू-कश्‍मीर में सुरक्षाबलों के आतंकवाद के खिलाफ अब तक का सबसे तेज अभियान छेड़ रखा है. श्रीनगर में सुरक्षाबलों ने आज तीन आतंकवादियों को एक घर में घेर लिया है. इसके बाद पुलिस और सुरक्षाबलों के अधिकारियों ने इनके परिवारों को बुलाकर सरेंडर करने के लिए कहा, लेकिन अभिभावकों की अपील के बावजूद भी आतंकवादी सरेंडर के लिए तैयार नहीं हुए. इसके बाद सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच फायरिंग शुरू हो गई है.Also Read - Republic Day 2022: भारत-पाकिस्तान सीमा पर BSF जवान 'हाई-अलर्ट' पर

आईजी कश्‍मीर के मुताबिक, श्रीनगर के ज़ादिबल इलाके में CRPF वैली QAT (क्विक एक्शन टीम), CRPF की 115 बटालियन व 28 बटालियन और जम्‍मू और कश्‍मीर पुलिस की टुकड़ियों ने संयुक्त ऑपरेशन शुरू किया है. सुरक्षाबलों की आतंकवादियों के खिलाफ फाय‍रिंग जारी है. Also Read - Kulgam Encounter: J&K में JeM का आतंकी ढेर, एक पुलिसकर्मी शहीद, आर्मी के तीन जवानों समेत 5 घायल

श्रीनगर के जैदीबल एरिया में इलाके को खाली करवा लिया गया और सीआरपीएफ की टीम CRPF Valley QAT (Quick Action Team) और जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस की संयुक्‍त टीम ने ऑपरेशन शुरू किया है. घटनास्‍थल पर फायरिंग की तेज आवाजें सुनाई दे रहीं हैं और जिस मकान में आतंकी छिपे हुए हैं, वहां से धुंआ उठता हुआ दिखाई दे रहा है. Also Read - Jaish-e-Mohammed के आतंकियों ने नागपुर में RSS मुख्‍यालय और हेडगेवार भवन रेकी की, पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा

कश्‍मीर पुलिस के आईजी ने बताया माना जा रहा है कि 3 आतंकी एक घर में 3 आतंकवादी फंसे हुए हैं. अपने स्रोतों के माध्यम से हम उनकी पहचान के बारे में जानते हैं और उनके माता-पिता को बुलाया, जिन्होंने उनसे आत्मसमर्पण करने की अपील की. लेकिन उन्होंने भरोसा नहीं किया. फायरिंग जारी है. उनमें से दो आतंकवादी साल 2019 से सक्रिय हैं. एक पिछले महीने 2 बीएसएफ जवानों पर हमले में शामिल था.