जम्मू. जम्मू कश्मीर सरकार ने राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर स्थित सीमावर्ती गांवों में 100 बंकरों का निर्माण शुरू कर दिया है जहां पाकिस्तानी सेना बार-बार संघर्षविराम का उल्लंघन करती रहती है. राजौरी के जिला उपायुक्त डॉ. शाहिद इकबाल चौधरी ने बताया, ‘जिला प्रशासन ने नौशेरा सेक्टर में एलओसी के पास स्थित गांवों में 100 बंकरों का निर्माण शुरू कर दिया है.’ उन्होंने कहा कि संघर्षविराम उल्लंघन, खासकर सीमा पार से होने वाली गोलाबारी के समय इन बंकरों में 1200 से 1500 लोग आ सकते हैं.

चौधरी ने नौशेरा सेक्टर में एलओसी के अग्रिम इलाकों का दौरा किया और इन बंकरों के निर्माण कार्य का निरीक्षण किया. चौधरी ने कहा कि बंकरों का कार्य पूरा होते ही पाकिस्तानी सेना की गोलाबारी के दौरान 1500 के लगभग लोग इन बंकरों में शरण लेकर अपनी जान बचा सकते हैं. उन्होंने कहा कि इसके अलावा 6121 व्यक्तिगत बंकरों को बनाने के लिए एक प्रोजेक्ट बनाकर राज्य सरकार के पास भेजा गया है.

इस प्रोजेक्ट के मंजूर होने पर व्यक्तिगत बंकरों को बनाने का कार्य भी शुरू कर दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि इस तरह के बंकरों की जरूरत मंजाकोट सेक्टर में भी है, उम्मीद है कि जल्द ही मंजाकोट सेक्टर में भी बंकर बनाने का कार्य शुरू हो जाएगा. जिला आयुक्त के मुताबिक इस समय राहत शिविरों में 4000 के करीब लोग रह रहे हैं. इन लोगों को रहने व खाने के प्रबंध के साथ साथ स्वास्थ्य सुविधा, बच्चों के लिए शिक्षा सुविधा व आंगनबाड़ी केंद्रों आदि का प्रबंध भी किया गया है.