श्रीनगर: लगभग 13 घंटे खुलने के बाद रविवार दोपहर के बाद जम्मू-श्रीनiर राष्ट्रीय हाईवे भूस्खलन आने के बाद फिर से बंद हो गया है. हजारों यात्री यहां फंसे हुए हैं. गौरतलब है कि, बीते गुरुवार और शुक्रवार भारी बर्फबारी के कारण जम्मू-श्रीनगर हाईवे दो दिन के लिए बंद रहा था. जिसके बाद रविवार को यातायात के लिए इसे कुछ देर के लिए खोला गया और यात्रियों और वाहनों को निकाला गया. लेकिन दोपहर लगभग 4 बजे के बीच रामबन से करीब दो किलोमीटर पहले महार में भूस्खलन आने के कारण राजमार्ग को फिर से बंद करना पड़ा. तस्वीरों में देखा जा सकता है कि यहां करीब 100 मीटर तक सड़कों पर मलबा और चट्टानें गिरी हुई हैं.

अयोध्या बनेगा अब धार्मिक पर्यटन केंद्र, सरकार ने बताई फ्यूचर प्लानिंग

ट्रैफिक कंट्रोल रूम रामबन के अनुसार, हाईवे खुलने में अभी आठ से दस घंटे लग सकते हैं. सुबह जो वाहन छोड़े गए थे और वे जवाहर टनल को पार कर चुके हैं, लेकिन दोपहर बाद राजमार्ग बंद होने के कारण करीब 1300 छोटे बड़े वाहन फंस गए. वहीं पुंछ और राजौरी जिलों को जोड़ने वाली मुगल रोड़ बीते 5 दिनों से बंद है. कश्मीर में ताजा बर्फबारी के चलते ठंड का प्रकोप काफी बढ़ गया है. मौसम विभाग ने बताया है कि कश्मीर में 13 नवंबर तक मौसम खराब रहेगा.

कश्मीर के पर्वतीय इलाकों में बर्फबारी हुई है. घनी धुंध में खराब विजिबिलिटी के कारण श्रीनगर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर अधिकांश फ्लाइट निर्धारित समय से देरी से गईं. दो फ्लाइट को रद्द करना पड़ा. साउथ कश्मीर के कोकरनाग में 3.8 एमएम बर्फबारी हुई. जम्मू-श्रीनगर हाईवे से सटे काजीकुंड टाउन में 0.2 एमएम बर्फ गिरी. घाटी के कई अन्य पर्वतीय क्षेत्रों में भी बर्फ गिरी है.