नई दिल्‍ली: पाकिस्तान द्वारा जम्मू-कश्मीर में लगातार भेजे जार घुसपैठियों को रोकने के लिए भारतीय सेना ने हाल ही में एंटी-टैंक गाइडेड मिसाइलों और तोपखाने से पाकिस्‍तानी सेना की कई चौकियों को निशाना बनाते हुए बड़ी कार्रवाई की है. भारतीय सेना की कार्रवाई का ये VIDEO सामने आया है. वीडियो में पाकिस्‍तानी सेना की ध्‍वस्‍त होती चौकियां नजर आ रही हैं. ये वीडियो न्‍यूज एजेंसी एएनआई ने शेयर किया है. Also Read - Indian Army SSC Officer Recruitment 2021: भारतीय सेना में ऑफिसर बनने का सुनहरा मौका, आवेदन प्रक्रिया शुरू, लाखों में होगी सैलरी

बता दें कि पाकिस्‍तानी सेना एलओसी पर लगातार फायरिंग की आड़ में आतंकियों को जम्‍मू-कश्‍मीर में घुसपैठ करवा रहा है. इसे रोकने के लिए भारतीय सेना लगातार पाकिस्‍तान को मुंहतोड़ जवाब देती आ रही है. Also Read - Indian Army Recruitment 2021: भारतीय सेना में नौकरी करने का सुनहरा मौका, आवेदन प्रक्रिया शुरू, लाखों में मिलेगी सैलरी

सूत्रों के मुताबिक, इंडियन आर्मी के जवानों ने हाल ही में जम्‍मू-कश्‍मीर के कुपवाड़ा सेक्‍टर से पाकिस्‍तानी सेना की चौकियों को निशाना बनाने के लिए एंटी-टैंक गाइडेड मिसाइलों और तोपखाने के गोले का इस्तेमाल किया है. भारतीय सेना का यह एक्‍शन पाकिस्तान द्वारा जम्मू-कश्मीर में भेजे जा रहे घुसपैठियों को खदेड़ने के लिए की गई क्‍योंकि लगातार संघर्ष विराम का उल्लंघन करके पाकिस्‍तान जम्मू-कश्मीर में आतंकियों की घुसपैठ करवा रहा है. Also Read - Jammu Kashmir: कठुआ जिले की कूलर और LED बनाने वाली फैक्ट्री में लगी भयंकर आग, लाखों की संपत्ति जल कर राख

बता दें कि 2019 में नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर आतंकवादियों द्वारा घुसपैठ के 138 मामले सामने आए हैं. सुरक्षा बलों के संयुक्त और आपसी तालमेल आधारित प्रयासों के फलस्वरूप वर्ष 2019 में जम्मू कश्मीर में 157 आतंकवादियों को मार गिराया गया था.

जम्मू कश्मीर में तीन साल में आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई में 251 सशस्त्र बल कर्मी, 118 नागरिक हताहत हुए हैं. भारत सरकार ने 2 मार्च को बताया कि जम्मू कश्मीर में 2017-19 के बीच आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई में सशस्त्र बलों के 251 कर्मी और 118 नागरिक हताहत हुए. रक्षा राज्यमंत्री श्रीपाद नाइक ने एक प्रश्न के लिखित उत्तर में राज्यसभा को यह जानकारी दी थी.

2017 में आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई में सशस्त्र बल के 80 कर्मी और 40 नागरिक हताहत हुए. उन्होंने बताया कि 2018 और 2019 में क्रमश: इनकी संख्या 91 और 39 तथा 80 और 39 थी. (इनपुट: एजेंसी)