श्रीनगर| एक बार फिर जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों का एक वीडियो सामने आया है. इस वीडियो में लश्कर ए तैयबा और हिज़्बुल मुजाहिद्दीन आतंकवादी संगठनों के सदस्य दिखाई दे रहे हैं. वीडियो मोबाइल से बनाया हुआ लग रहा है. इस वीडियो में 16 आतंकवादी नज़र आ रहे हैं. इस वीडियो के सामने आने के बाद सुरक्षाबल इनकी तलाश में लग गए हैं.Also Read - Kulgam Encounter: सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ में हिज्बुल मुजाहिदीन के दो आतंकवादियों को मार गिराया

वीडियो में दिखाई दे रहा है कि कोई पहाड़ जैसा है, जहां हर तरफ पेड़ ही पेड़ हैं. सारे आतंकी एक एक करके चलते हुए आ रहे हैं. उनके हाथों में बंदूक है और कंधों पर बैग है. वो कैमरे के सामने से निकल कर जा रहे हैं. इन आतंकवादियों ने अपना चेहरा नहीं ढंका है. पिछले कुछ वक्त से इस तरह के जितने भी वीडियो आए हैं सभी में चेहरे को छुपाया नहीं गया है. Also Read - Jammu and Kashmir News: पुलवामा में हिजबुल मुजाहिदीन का आतंकी गिरफ्तार, भारी मात्रा में गोला बारूद जब्त

पुलिस का कहना है कि इस वीडियो में लश्कर और हिब्जुल के मोस्ट वॉन्टेड आतंकी दिख रहे हैं. बताया जा रहा है कि ये वीडियो दक्षिण कश्मीर का है. पुलिस इस वीडियो की सत्यता की जांच कर रही है. अभी तक ये साबित नहीं हुआ है कि ये वीडियो किस जगह और किस तारीख़ का है. Also Read - J&K: बुरहान वानी के पिता ने 75वें स्वतंत्रता दिवस पर पुलवामा में फहराया तिरंगा

बता दें कि कश्मीर के दक्षिणी हिस्से में मंगलवार रात आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों को निशाना बनाकर कई हमले किए जिनमें 13 जवान घायल हो गए. आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों के चार राइफलें भी लूट ली. कुछ घंटों के भीतर दक्षिणी कश्मीर में चार और उत्तरी कश्मीर में एक हमला हुआ.

पुलिस महानिदेशक एस पी वैद ने पीटीआई-भाषा से कहा कि इस बात की खुफिया जानकारी थी कि आतंकवादी 17वें रमजान और जंग-ए-बदर (इस्लामी इतिहास की पहली जंग) की वर्षगांठ के मौके पर हमले कर सकते हैं, ऐसे में सभी जरूरी ऐहतियाती कदम उठाए गए थे.

वैद ने कहा, दो जवान गंभीर रूप से घायल हो गए, लेकिन उनकी हालत खतरे से बाहर है. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि पुलवामा जिले के टाल इलाके में आज आतंकियों ने सीआरपीएफ के एक शिविर पर ग्रेनेड फेंका जिसमें 10 जवान घायल हो गये. दूसरा हमला अनंतनाग जिले में हुआ जहां के अंचीदोरा इलाके में आतंकवादियों ने एक सेवानिवृत्त न्यायाधीश के आवास पर तैनात सुरक्षा बलों पर गोलीबारी की. इस घटना में दो जवान घायल हो गए.

पुलिस प्रमुख ने कहा कि आतंकवादियों ने वहां तैनात जवानों से चार राइफलें भी लूट लीं. तीसरा हमला पुलवामा के पदगामपोरा इलाके में सीआरपीएफ के शिविर पर हुआ, हालांकि इसमें कोई घायल नहीं हुआ. आतंकवादियों ने पुलवामा थाने पर एक ग्रेनेड फेंका जिसमें एक पुलिसकर्मी को मामूली चोट आई. उत्तरी कश्मीर के सोपोर में आंकवादियों ने एक और हमला किया, लेकिन इस हमले में कोई नुकसान नहीं पहुंचा।