श्रीनगर: राष्ट्रीय जांच एजेंसी ( NIA) हिज्बुल मुजाहिदीन Hizbul Mujahideen के स्वयंभू कमांडर नवीद ‘बाबू’ से संबंधों के मामले में जम्मू-कश्मीर Jammu and Kashmir के पूर्व विधायक शेख अब्दुल राशिद से पूछताछ करेगी. नवीद को जम्मू-कश्मीर पुलिस के निलंबित डीएसपी दविंदर सिंह Davinder singh के साथ गिरफ्तार किया गया था. एनआईए ने जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी गतिविधियों संबंधी एक मामले में 9 अगस्त को उसे गिरफ्तार किया था, जिसके बाद से वह तिहाड़ जेल में न्यायिक हिरासत में है.

जांच एजेंसी से संबंधित अधिकारियों ने सोमवार को श्रीनगर में यह जानकारी देते हुए कहा कि हिज्बुल मुजाहिदीन के स्वयंभू कमांडर नवीद ‘बाबू’ ने दावा किया है कि वह पूर्व विधायक शेख अब्दुल राशिद के संपर्क में था.

अवामी इत्तेहाद पार्टी के नेता ने 2014 निर्दलीय चुनाव लड़ा था
अवामी इत्तेहाद पार्टी के नेता और ‘राशिद इंजीनियर’ के नाम से जाने जाने वाले राशिद ने उत्तर कश्मीर के लंगेट से 2014 विधानसभा चुनाव निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर लड़ा था.

पूर्व विधायक से पूछताछ करने के लिए कोर्ट जाएगी
अधिकारियों ने बताया कि एजेंसी राशिद को समन जारी करने को लेकर पेशी वारंट हासिल करने के लिए अदालत के पास जाएगी ताकि पूर्व विधायक के नवीद से संबंध के बारे में पूछताछ की जा सके. वह 6 फरवरी तक एनआईए की हिरासत में है.

11 जनवरी को डिप्‍टी एसपी के साथ गिरफ्तार हुआ था हिजबुल आतंकी
नवीद को 11 जनवरी को दविंदर सिंह के साथ गिरफ्तार किया गया था. नवीद का पूरा नाम सैयद नवीद मुश्ताक अहमद है. सिंह नवीद समेत दो अन्य लोगों को कश्मीर घाटी से कथित रूप से बाहर ले जा रहा था. पिछले सप्ताह यह खबर आई थी कि नवीद ने पूछताछ के दौरान कहा था कि वह एक पूर्व विधायक के लगातार संपर्क में था.

आतंकी का दावा, पूर्व विधायक के नियमित संपर्क में था
अधिकारियों के मुताबिक, नवीद ने दावा किया है कि उत्तरी कश्मीर में आतंकवादियों का मजबूत ठिकाना बनाने के लिए वह पूर्व विधायक के नियमित संपर्क में था और छिपने के संभावित इलाके की तलाश कर रहा था. अधिकारियों ने राशिद से पूछताछ की आवश्यकता को सही बताते हुए कहा कि यह निश्चित ही एक गंभीर अपराध है और इसकी गहन जांच किए जाने की आवश्यकता है.

डिप्‍टी एसपी के साथ आतंकी हुए थे गिरफ्तार
दविंदर सिंह Davinder singh और नवीद के अलावा खुद को वकील बताने वाले इरफान शफी मीर और रफी अहमद राठेर को काजीगुंड में श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग से गिरफ्तार किया गया था. बाद में 23 जनवरी को नवीद के भाई सैयद इरफान अहमद को भी पंजाब से लाने के बाद गिरफ्तार कर लिया गया था.

दविंदर सिंह पर आतंकी को मदद करने की आरोप
नवीद अपने भाई के लगातार संपर्क में था और उसने उससे कश्मीर की कड़ाके की ठंड से बचने के लिए चंडीगढ़ में रहने की व्यवस्था करने को कहा था. दविंदर सिंह ने पिछले साल भी बाबू को जम्मू लाने और आराम एवं स्वास्थ्य लाभ के बाद शोपियां वापस लौटने में मदद की थी.