श्रीनगर। जम्मू कश्मीर में के कुलगाम जिले में सोमवार को सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में दो आतंकवादियों को मार गिराया है. बताया जा रहा है कि मारे गए दोनों आतंकवादी हिजबुल मुजाहिदीन के थे. सुरक्षाबलों ने एक ओवर ग्राउंड वर्कर (OGW) को गिरफ्तार किया है. आतंकियों के पास से एके 47 राइफल के अलावा अन्य हथियार बरामद किए गए हैं.

इससे पहले दो सितंबर को कुलगाम के बेहीबाग में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में एक आतंकी को मार गिराया था. मारे गए आतंकी की पहचान लश्कर आतंकी इश्फाक पद्दार के रूप में हुई थी. पद्दार लेफ्टिनेंट उमर फयाज की हत्या भी शामिल था.

दूसरी तरफ, कश्मीर के शोपियां जिले में सुरक्षाबलों के साथ शनिवार को रात भर चली मुठभेड़ में हिज्बुल मुजाहिदीन के दो आतंकवादी मार गिराया जबकि तीसरे ने रविवार को आत्मसमर्पण कर दिया था. हाल के सालों में यह पहली घटना थी जब किसी आतंकवादी ने मुठभेड़ के दौरान अपने हथियार डाला.

पुलिस ने बताया कि इलाके में छुपे कुछ आतंकवादियों के बारे में गुप्त सूचना मिलने के बाद शोपियां जिले के बरबग इलाके में शनिवार शाम मुठभेड़ शुरू हुई थी.

एक पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि तलाशी के दौरान छुपे हुए आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी, जिस पर सुरक्षाबलों ने पलटवार किया, जिससे रविवार सुबह तक दोनों तरफ से गोलीबारी हुई. उन्होंने बताया कि अल्ताफ अहमद राथेर और तारिक अहमद भट नाम के दो आतंकवादी इस मुठभेड़ में मार गिराए गए.

एक आतंकवादी की पहचान आदिल हुसैन डार के तौर पर हुई, जिसने सुरक्षा बलों के समक्ष आत्मसमर्पण किया. डार पिछले कई साल में मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार किया गया पहला आतंकवादी है. वह करीब चार महीने पहले हिज्बुल मुजाहिदीन में शामिल हुआ था.

भाषा इनपुट