श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में आईईडी विस्फोट में घायल हुए दो सैनिकों ने अस्‍पताल में दम तोड़ दिया. रक्षा प्रवक्ता ने मंगलवार को बताया कि नौ सैनिक और दो नागरिक सोमवार को पुलवामा जिले के अरिहल में हुए आईईडी विस्फोट में घायल हो गए थे. आतंकवादियों ने सेना के गश्ती दल को आईईडी से निशाना बनाया था. भारतीय सेना ने मंगलवार को जम्मू एवं कश्मीर में पुलवामा हमले से जुड़े एक और आतंकवादी को मार गिराया. हालांकि, आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में पिछले 24 घंटों में सेना के चार जवान शहीद हो गए हैं.

प्रवक्ता ने कहा, गंभीर रूप से घायल दो सैनिकों को बदहवास अवस्था में 92 बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उन्होंने दम तोड़ दिया. प्रवक्ता ने सोमवार को इस विस्फोट को हमले का एक नाकाम प्रयास बताते हुए कहा था कि सभी सैनिक सुरक्षित हैं, केवल कुछ को मामूली चोटें आई हैं. पुलिस ने कहा कि वाघमा मुठभेड़ में एक जवान भी शहीद हो गया, जबकि दो अन्य घायल हो गए.

रक्षा प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने कहा कि सोमवार को अरिहल गांव में आईडी विस्फोट के बाद लाए गए दो जवानों ने मंगलवार को 92 बेस अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया. चौथे शहीद मेजर केतन शर्मा मेरठ कैंट (उत्तर प्रदेश) से थे, जो अनंतनाग के बिदूरा गांव में सोमवार को मुठभेड़ में शहीद हो गए.

पुलिस ने बताया कि इस दौरान घायल सैनिकों की संख्या 22 हो गई है. वघामा मुठभेड़ के दौरान दो सैनिक घायल हो गए, जबकि 19 पुलवामा जिले के अरिहल गांव में सैन्य वाहन पर सोमवार को हुए आईडी हमले में घायल हो गए.

सेना जैश-ए-मोहम्मद के उस आतंकवादी को मार गिराया, जिसकी कार का इस्तेमाल 14 फरवरी के पुलवामा हमले में किया गया था. जैश का आतंकवादी, जिसकी कार का इस्तेमाल लेथपोरा हमले में हुआ था, वह मंगलवार को अनंतनाग जिले में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया.इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे.

जैश का आतंकवादी सज्जाद अहमद भट, जिसके कार का इस्तेमाल पुलवामा के लेथपोरा में हमले को अंजाम देने के लिए किया गया, वह वाघमा में मारे गए दो आतंकवादियों में शामिल है. पुलिस सूत्रों ने कहा, “सज्जाद अहमद भट उर्फ अफजल गुरु लेथपोरा आतंकवादी हमले के कुछ समय पहले आतंकवाद से जुड़ा था,  वह मरहमा गांव से ताल्लुक रखता है. “