श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में सुरक्षा बलों और जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकवादियों के बीच सोमवार सुबह से हुई मुठभेड़ में दोनों आतंकवादी मारे जा चुके हैं. वहीं, 11-12 जुलाई की रात को सोपोर में हुई एक अन्‍य मुठभेड़ में मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े 3 आतंकवादी मारे गए. Also Read - जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा रद्द करने से न तो विकास ही हुआ न ही आतंकवाद खत्म हुआ : फारूक

जम्मू-कश्मीर पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने कहा, अनंतनाग में जारी मुठभेड़ में दोनों आतंकवादियों का सफाया कर दिया गया है. वे जैश-ए-मोहम्मद के थे. प्रारंभिक पहचान के अनुसार, एक स्थानीय आतंकवादी था और एक पाकिस्तानी था. हथियार और गोला-बारूद भी बरामद हुआ है. Also Read - VIDEO: कश्मीर में ज़मीन के नीचे ऐसे ठिकाना बनाते हैं आतंकी, भारतीय सेना ने बरामद किए चाइनीज़ हथियार

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच सोमवार सुबह हुई मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए हैं.

पुलिस ने के एक अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया जानकारी मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने अनंतनाग जिले के श्रीगुफ्वारा इलाके में सोमवार तड़के घेराबंदी कर तलाश अभियान शुरू किया था. उन्होंने बताया कि तलाश अभियान सुबह करीब 6.40 बजे तब मुठभेड़ में बदल गया, जब वहां छिपे आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों पर गोलीबारी की. इसका बलों ने भी मुंहतोड़ जवाब दिया.

पुलिस अधिकारी ने बताया कि मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने दो आतंकवादियों को मार गिराया. मौके से हथियार और गोला-बारूद सहित अन्य विस्फोटक सामग्री बरामद की गई है.उन्होंने कहा कि इलाके में सर्च ऑपरेशन अभी जारी है.

सोपोर में कल मारे गए मारे गए थे तीन आतंकवादी
सोपोर में एक मुठभेड़ में 11-12 जुलाई की रात को लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े 3 आतंकवादी मारे गए हैं.डीआईजी बारामूला एम सुलेमान ने बताया कि सोपोर में एक मुठभेड़ में 11-12 जुलाई की रात को लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े मारे गए 3 आतंकवादि‍यों के पास से जो हथियार और गोला-बारूद जब्त किए गए हैं, उनसे पता चलता है कि वे एक बड़े हमले की योजना बना रहे थे. आगे की जांच चल रही है.