नई दिल्‍ली: जेएनयू कैम्‍पस से 15 अक्‍टूबर 2016 के बाद से लापता स्‍टूडेंट नजीब अहमद के मामले को लेकर उसकी मां ने सीबीआई मुख्‍यालय के बाहर प्रदर्शन किया है. नजीब की मां फातिमा नफीफा सोमवार को सीबीआई ऑफिस के बाहर भीड़ के साथ पहुंची और विरोध प्रदर्शन किया और कहा कि अगली बार और बड़ी भीड़ लेकर आऊंगी.Also Read - पश्चिम बंगाल के स्कूलों में 'ग्रुप डी' कर्मियों की भर्ती की CBI जांच के आदेश पर कलकत्ता हाईकोर्ट की रोक

राजधानी में स्थित सीबीआई मुख्‍यालय के बाहर नफीसा जांच एजेंसी के विरोध में प्रदर्शन करते हुए नफीसा ने कहा कि मेरी उम्‍मीद खत्‍म हो चुकी है कि नजीब वापस आएगा. नफीसा ने कहा,’मैं अपना विरोध प्रदर्शन जारी रखूंगी, अगली बार आप मेरे साथ 10 गुना अधिक लोगों को देखेंगे.’ बता दें कि नफीसा के साथ बड़ी संख्‍या में जेएनयू के स्‍टूडेंट्स पहुंचे. Also Read - Narendra Giri Death Case: CBI ने आनंद गिरि समेत तीन के खिलाफ आरोप पत्र किया दाखिल

Also Read - CBI, ED निदेशक के कार्यकाल का विस्तार: इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचीं TMC सांसद महुआ मोइत्रा, किया ये ट्वीट

नजीब की गुमशुदगी का मामला और घटनाचक्र
15 अक्‍टूबर 2016: नजीब अहमद हॉस्‍टल के रूम नं.106 से गायब
31 अक्‍टूबर 2016: दिल्‍ली सरकार ने परिवार को नजीब को खोजने में मदद का आश्‍वासन दिया
6 नवंबर 2016: नजीब के मामले में मां और बहन काविरोध प्रदर्शन किया और इंडिया गेट पर रैली निकालने की कोशिश की.
8 नवंबर 2016: को फातिमा नफीसा ने केंद्रीय गृहमंत्री और उप राज्‍यपाल नजीब जंग से मुलाकात की.
28 नवंबर 216: दिल्‍ली पुलिस ने नजीब की सूचना देने वाले को 5 लाख से बढ़ाकर 10 लाख रुपए कर दी. इसकी शुरुआत 50 हजार से एक लाख और फ‍रि 5लाख की गई थी.
19 दिसंबर 2016: दिल्‍ली पुलिस के 600 जवानों ने 10 स्‍निफर डॉग के साथ जेएनयू कैम्‍पस की तलाशी ली.
22 जनवरी 2017: 20 साल के एक लड़के को अरेस्‍ट किया गया, जिसने नजीब के एक रिश्‍तेदार को फोन करके फिरौती लेकर नजीब को छोड़ने की बात की थी.
16 अक्‍टूबर 2017: दिल्‍ली हाईकोर्ट ने सीबीआई से जांच में लापरवाही पर फटकार लगाई. (इनपुट एजेंसी)