JNU Violence: जेएनयू हिंसा मामला दिन पर दिन जोर पकड़ता जा रहा है. ऐसे में छात्र लगातार जेएनयू कुलपति के इस्तीफे की मांग कर रहे थे. इसी बीच कुलपति एम जगदेश कुमार ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस किया. प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उन्होंने कहा कि 5 जनवरी की शाम विश्वविद्यालय कैंपस में हुई घटना दुर्भाग्यपूर्ण हैं. हमारे कैंपस को सभी समस्याओं को चर्चा और बहस कर सुलझाने के लिए जाना जाता है. हिंसा समस्या का समाधान नहीं है. हम विश्वविद्यालय में हालात सामान्य बनाने को लेकर हर संभव प्रयास करेंगे.


बता दें कि जेएनयू हिंसा मामले की शुरुआत की वजह छात्रों को रजिस्ट्रेशन करने से रोकने को बताया जा रहा है. छात्र लगातार एक दूसरे पर आरोप लगाते रहे हैं. लेफ्ट समर्थक छात्रों पर आरोप लगाया गया कि उन्होंने कैंपस के उस कमरे को लॉक कर दिया जहां से इंटरनेट का संचालन होता है व रजिस्ट्रेशन किया जाना था. इसी मामले पर आगे प्रेस को संबोधित करते हुए जगदीश कुमार ने कहा कि रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को दोबारा चालू कर दिया गया है. अगले सेमेस्टर के लिए छात्र रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं. जो हुआ सो हुआ आगे की सोचने और देखने की जरूरत है.

बता दें कि बीते रविवार 5 जनवरी के दिन शाम के वक्त दो कुछ नाकबपोश कैंपस में लाठी-डंडों और हथियार के साथ घुस आए. इसके बाद उन्होंने कैंपस में खूब आतंक मचाया और जमकर हिंसा की. इस दौरान कई छात्रों को गंभीर चोटे भी आईं. बता दें कि इस पूरे मामले की जांच क्राइम ब्रांच कर रही है. दिल्ली पुलिस का कहना है कि जो भी आरोपी होगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.