नई दिल्ली। राजस्थान के जोधपुर और मारवाड़ रेलवे स्टेशन ने स्वच्छ स्टेशनों के मामले में बड़े नामों को मात दी है. दोनों स्टेशन स्वच्छता मूल्यांकन के नवीनतम दौरे में देश में बड़े स्टेशनों के बीच सबसे स्वच्छ स्टेशन के रूप में उभरकर सामने आए हैं. रेलमंत्री पीयूष गोयल द्वारा जारी स्टडी रिपोर्ट के अनुसार जोधपुर इस साल ए 1 श्रेणी में पहले नंबर पर आया है जबकि मारवाड़ ए श्रेणी में अव्वल रहा. दोनों ही उत्तर पश्चिम रेलवे के स्टेशन हैं. ए 1 और ए श्रेणी के स्टेशन यात्री राजस्व में 80 फीसद योगदान करते हैं. स्टेशनों को कमाई और यात्रियों की संख्या के आधार पर ए1 और ए श्रेणी में रखा जाता है.

अर्धवार्षिक बनाने का सुझाव

रिपोर्ट जारी करते हुए गोयल ने स्टेशनों के बीच प्रतिस्पर्धा और बढ़ाने और स्वच्छता मापदंडों को बनाए रखने में परख सुनिश्चित करने के लिए इस स्टडी को वार्षिक से अर्धवार्षिक बनाने का सुझाव दिया. महानगरों का कोई स्टेशन इस सूची के शीर्ष दस स्टेशनों में नहीं आया है. वैसे नई दिल्ली का आनंद विहार अपवाद है जो पांचवें नंबर पर आया है.

ए 1 श्रेणी के स्टेशन

नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पिछले साल की तरह इस बार भी 39 वें नंबर पर है. ए1 श्रेणी के स्टेशनों में जयपुर दूसरे नंबर पर, आंध्र प्रदेश का तिरुपति तीसरे नंबर पर पर है. इनके अलावा सिकंदराबाद, बांद्रा, हैदराबाद, भुवनेश्वर और विशाखापट्टनम का नंबर है. खास बात यह है कि पिछली बार जयपुर का नंबर आठवां था जबकि इस बार वह दूसरे नंबर पर आया है. पिछले साल ए1 श्रेणी स्टेशनों की रैकिंग में विशाखापत्तनम पहले नंबर पर था. इस साल वह 10 वें नंबर पर है.

ए श्रेणी के स्टेशन

राजस्थान का मारवाड़ स्टेशन ए श्रेणी के स्टेशनों की सूची में पहले नंबर पर,  फुलेरा दूसरे नंबर पर आया है जबकि वारंगल तीसरे नंबर पर है. टॉप टेन में उदयपुर, जैसलमेर, बाड़मेर और भीलवाड़ा स्टेशनों के भी नाम हैं. इस तरह से राजस्थान के रेलवे स्टेशनों ने इस श्रेणी में पूरी तरह बाजी मारते हुए बाकी राज्यों को पीछे छोड़ दिया है.

उत्तर मध्य रेलवे फिसड्डी

जब गोयल से स्वच्छता के पैमाने पर सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले स्टेशन के बारे में पूछा गया तो उन्होंने स्टेशन का नाम नहीं लिया लेकिन कहा कि उत्तर मध्य रेलवे 16 वें नंबर पर है जो इस बात का संकेत है कि वह स्वच्छता के मापदंड पर रेलवे के विभिन्न जोनों में सबसे खराब प्रदर्शन करने वाला जोन है.

रहने के लिहाज से ये शहर सबसे टॉप पर, दिल्ली टॉप 50 से भी बाहर

बता दें कि ठीक इसी तर्ज पर रहने के मामले में भी पुणे जैसे शहर ने कई बड़े नामों को पीछे छोड़ा है. पुणे शहर को रहने के लिहाज से देश में सबसे टॉप पर जगह मिली है. दूसरे नंबर पर नवी मुंबई है. इस सूची में दिल्ली 65वें नंबर पर है. 100 शहरों की लिस्ट में यूपी का रामपुर सबसे नीचे है.