जोधपुर. नाबालिग लड़की से रेप के मामले में जेल में बंद आसाराम बापू पर बुधवार को कोर्ट का फैसला आएगा. ऐसे में सुरक्षा के इंतजाम कड़े कर दिेए गए हैं. राम रहीम पर आए फैसले के बाद जिस तरह समर्थकों ने उपद्रव मचाया था, उसे देखते हुए प्रशासन किसी भी तरह की ढिलाई नहीं बरत रहा है. पुलिस को आशंका है कि फैसले के दिन जोधपुर में बड़ी संख्या में आसाराम के समर्थक जुट सकते हैं. ऐसे में वहां धारा 144 लागू कर दिया गया है. बता दें कि आसाराम को 31 अगस्त 2013 को गिरफ्तार किया गया था, तबसे वह जेल में हैं.

जोधपुर के पुलिस आयुक्त अशोक राठौर के मुताबिक, अदालत ने जेल परिसर के अंदर फैसला सुनाए जाने के आग्रह को स्वीकार कर लिया है. सूचना मिली है कि आशाराम के समर्थक फैसले के पहले और फैसले वाले दिन जोधपुर में घुसने की फिराक में है. ऐसे में पड़ोसी राज्यों से भी मदद मांगी गई हैं. साथ ही जरूरत पड़ने पर अर्धसैनिक बलों को भी वहां तैनात किया जाएगा.

पुलिस रिपोर्ट्स के मुताबिक, दिल्ली एनसीआर में आसाराम के आश्रमों में उनके समर्थक इकट्ठा हो रहे हैं. इनमें महिलाओं, बच्चे और बुजुर्गों की संख्या काफी ज्यादा है. उनका कहना है कि वे बापू के लिए प्रार्थना करने के लिए यहां इकट्ठा हुए हैं. आश्रमों में भजन और किर्तन हो रहा है.

बता दें कि यूपी के शाहजहांपुर की रहने वाले एक नाबालिग लड़की ने आरोप लगाया है कि आसाराम ने जोधपुर के आश्रम में उसका यौन उत्पीड़न किया था. उसका आरोप है कि जिस समय वह आश्रम में रह रही थी और उसके साथ यौन उत्पीड़न हुआ उसकी उम्र 16 साल थी. उसने दिल्ली के कमला मार्केट थाने में इसकी शिकायत दर्ज कराई, जिसे बाद में जोधपुर ट्रांसफर कर दिया गया था.