नई दिल्ली. भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव की स्थिति को लेकर गुरुवार की शाम दिल्ली में तीनों सेनाओं के प्रतिनिधियों ने ज्वाइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इस दौरान भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान द्वारा भारतीय सीमा में घुसपैठ करने, भारतीय सेना द्वारा उसके एक एफ-16 विमान को मार गिराने और घटना को लेकर पाकिस्तान द्वारा भ्रम फैलाने संबंधी सभी मामलों पर स्थिति स्पष्ट की. वायुसेना ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में साफ तौर पर कहा कि उनके पास पाकिस्तानी विमान को मार गिराने के सबूत हैं. Also Read - Indian Air Force Airmen Recruitment 2021: 12वीं पास उम्मीदवारों के लिए भारतीय वायुसेना में निकली वैकेंसी, इस दिन से करें आवेदन

इसके अलावा उन्होंने एयर स्ट्राइक के बाद PoK में जैश-ए-मोहम्मद के अड्डों को उड़ाए जाने का भी दावा किया. साथ ही कहा कि जैश के ट्रेनिंग सेंटरों को नेस्तनाबूत किए जाने के सबूत भी वायुसेना के पास हैं. सरकार जब चाहेगी, सबूत पेश कर दिए जाएंगे. ज्वाइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस को नौसेना की ओर से रियर एडमिरल दलवीर सिंह गुजराल, वायुसेना की ओर से एयर वाइस मार्शल आरजीके कपूर और आर्मी की ओर से मेजर सुरेंद्र सिंह महल ने संबोधित किया. Also Read - Army Day 2021: आर्मी चीफ का चीन को स्पष्ट संदेश, कहा- भारतीय सेना के धैर्य की परीक्षा न ले कोई देश, हम...

भारतीय वायुसेना के एयर वाइस मार्शल आरजीके कपूर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की शुरुआत में पाकिस्तानी सेना द्वारा भारतीय सैन्य ठिकानों पर हमला करने की जानकारी दी. उन्होंने बताया कि बीती 27 फरवरी को बड़ी संख्या में भारतीय सीमा में पाकिस्तानी सेना के विमानों की गतिविधि देखी गई. पाकिस्तानी विमान भारतीय सीमा में घुसे थे, पाक विमानों ने सेना के ठिकानों को निशाना बनाने की कोशिश की थी, हमने उनका एक एफ-16 विमान को मार गिराया. इस क्रम में हमारा एक मिग विमान क्रैश हो गया. हमारा एक पायलट भी पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में गिरा, जिसे पाकिस्तानी सेना ने हिरासत में ले लिया. पाकिस्तान ने इस पूरे मामले में कई झूठ बोले. पाकिस्तान ने दो विमान गिराने का झूठा दावा किया. पहले पाकिस्तान ने कहा कि दो पायलट गिरफ्तार किए गए, थोड़ी ही देर बाद पाकिस्तान का बयान आया कि सिर्फ एक पायलट को गिरफ्तार किया.

थलसेना के मेजर सुरेंद्र सिंह महल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि कश्मीर से लगी नियंत्रण रेखा के पास पाकिस्तान की ओर से लगातार सीजफायर का उल्लंघन जारी है. भारतीय सेना मुंहतोड़ जवाब दे रही है. सीमा पर हमारी कड़ी चौकसी जारी है. वहीं, नौ सेना के रियर एडमिरल डीएस गुजराल ने कहा कि नौसेना हाई अलर्ट पर है. हम पाकिस्तान की किसी भी नापाक मंसूबे का करारा जवाब देने के लिए पूरी तरह तैयार हैं.