नई दिल्‍ली: केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ‘जम्मू जन संवाद रैली’ में कहा, अंतरराष्ट्रीय मंचों पर जब जम्‍मू-कश्‍मीर और धारा 370 का सवाल खड़ा होता था तो ज्यादातर देश पाकिस्तान के साथ खड़े होते थे. अंतरराष्ट्रीय जगत में प्रधानमंत्री जी ने देश की प्रतिष्ठा इतनी बढ़ाई है कि हमें दूसरे देशों के साथ अब मुस्लिम देशों का भी समर्थन प्राप्त हो रहा है. Also Read - 'मैं महाराजा, टाइगर और मामा नहीं और न चाय बेचता हूं, मैं कमलनाथ हूं'

सिंह ने कहा इससे पहले कश्मीर में, ‘कश्मीर आज़ादी’ की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन होते थे और पाकिस्तान और ISIS के झंडे देखे गए थे, लेकिन अब वहां केवल भारतीय ध्वज ही नज़र आता है. राजनाथ सिंह ने कहा, बस इंतजार करें, जल्द ही पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के लोग मांग करेंगे कि वे भारत के साथ रहना चाहते हैं या पाकिस्तान के शासन में नहीं, और जिस दिन ऐसा होगा, हमारी संसद का एक लक्ष्य भी पूरा होगा. Also Read - चीन से तनाव के बीच बॉर्डर पर तेजी से इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलप कर रहा है भारत, राजनाथ सिंह ने की समीक्षा


रक्षा मंत्री ने कहा- मौसम बदल चुका है और हमारे चैन मुज्‍जफराबाद- गिलगिट का तापमान दर्ज हरारत बता रहे हैं. ये दर्ज हरारत बताने के कारण अब इस्‍लामाबाद में भी कुछ हरारत महसूस होने लगी है. और इसलिए वे कुछ ज्‍यादा शरारत करने पर भी आमदा है.

कोरोना का संकट आने के बाद वर्चुअल रैली का सिलसिला भाजपा ने देश के कार्यकर्ताओं से और देश की जनता के साथ संवाद करने के लिए प्रारंभ किया है. उन्‍होंने कहा- भारत की राजनीति डिजिटल दुनिया की ओर प्रस्थान कर चुकी है.

रक्षा मंत्री ने कहा- दुनिया के कई मजबूत देश कोरोना महामारी के कारण लड़खड़ा गए हैं. भारत में प्रधानमंत्री जी ने कोरोना संकट को चुनौती के रूप में स्वीकार किया और कई बड़े और अहम फैसले लिए. चुनौतियों पर विजय प्राप्त करने का नाम ही भाजपा है.

रक्षा मंत्री ने कहा- 1984 में जब हमें मात्र 2 सीटें प्राप्त हुई थी, तो राजनीतिक विश्लेषकों ने ये कहना शुरू कर दिया था कि भाजपा समाप्त हो जाएगी. लेकिन उस समय के हमारे नेता आदरणीय अटल जी और आडवाणी जी ने इस चुनौती को स्वीकार किया और संकल्प लिया. जिसका परिणाम आज आप देख रहे हैं कि 2 से लेकर दोबारा सरकार बनाने तक की यात्रा हमने की है. भाजपा ने जो कहा उसे अवसर मिलते ही उस काम को पूरा किया गया. भाजपा एक ऐसी पार्टी है जो कहती है, वह करती है.

केंद्रीय रक्षा मंत्री ने कहा, मैं सरपंच अजय पंडिता को श्रद्धांजलि देता हूं, जो एक कायरतापूर्ण हमले में मारे गए और बारामूला के मोहम्मद मकबुल शेरवानी, जिन्होंने 1947 में कश्मीर घाटी में भारतीय ध्वज फहराया.