नई दिल्ली: जस्टिस शरद अरविंद बोबडे भारत के 47वें प्रधान न्यायाधीश के रूप में सोमवार को शपथ ग्रहण करेंगे. एक बयान के मुताबिक, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भारत के प्रधान न्यायाधीश (Chief Justice of India) को सुबह 9.30 बजे पद की शपथ दिलाएंगे. बता दें कि जस्टिस रंजन गोगोई 3 अक्टूबर 2018 को प्रधान न्यायाधीश बनाए गए और रविवार को वह सेवानिवृत्त हुए.

निर्वतमान प्रधान न्यायाधीश (CJI) रंजन गोगोई ने 18 अक्टूबर को जस्टिस बोबडे को प्रधान न्यायाधीश के रूप में नियुक्ति की सिफारिश की थी. जस्टिस बोबडे इस समय सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठतम जज हैं.

जस्टिस बोबडे प्रधान न्यायाधीश के रूप में 18 महीने कार्य करेंगे. वह 23 अप्रैल 2021 को रिटायर होंगे.

जस्टिस बोबडे का जन्म नागपुर में 24 अप्रैल 1956 को हुआ. उन्होंने नागपुर यूनिवर्सिटी से कानून में स्नातक की उपाधि हासिल की. वह 1978 में बार काउंसिल ऑफ महाराष्ट्र में पंजीकृत हुए और 1998 में वरिष्ठ वकील मनोनीत हुए.

वह 29 मार्च 2000 को बंबई हाईकोर्ट में अतिरिक्त जज नियुक्त हुए. वह 16 अक्टूबर 2012 को मध्य प्रदेश हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश बनाए गए. सुप्रीम कोर्ट में वह 12 अप्रैल 2013 में जज बनाए गए. जस्टिस रंजन गोगोई 3 अक्टूबर 2018 को प्रधान न्यायाधीश बनाए गए और रविवार को वह सेवानिवृत्त हुए.